विजयदशमी पर्व पर एक काव्य गोष्ठी एवं संगोष्ठी का आयोजन

विजयदशमी पर्व पर एक काव्य गोष्ठी एवं संगोष्ठी का आयोजन

अयोध्या । संस्कार भारती साकेत इकाई अयोध्या के तत्त्वाधान में विजयदशमी पर्व पर एक काव्य गोष्ठी एवं संगोष्ठी का आयोजन डॉ जनार्दन प्रसाद उपाध्याय की अध्यक्षता एवं मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ ।

जिसका संचालन कवि आनन्द शक्ति पाठक ने किया, वाणी बंदना आशु कवि अशोक टाटम्बरी ने करते हुए कहा श्री रामचन्द्र की मर्यादा का सारे जग को ध्यान रहे सबका साथ विकास सभी का जन जन का कल्यान रहे,उक्त अवसर पर हिन्दी प्रचार   सेवा संस्थान के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ0 सम्राट अशोक मौर्य ने कहा कि हमें सृजनात्मक ढंग से कार्य करना चाहिए जनहित के लिए तत्पर रहना चाहिए, उक्त अवसर पर जयदीप नवल ने अपनी रचना पढ़ते हुए कहा जिसको हम देते रहे रोज-रोज ही रोज, वो  गैरों के साथ में खाती है मोमोज,डॉ0 अनुपम पाण्डेय ने सबका आभार प्रकट किया।

मुख्य अतिथि डॉ0 जनार्दन उपाध्याय ने कहा कि साहित्यकार समाज को हमेशा नई दिशा दिखलाता रहा है हमे अपनी जिम्मेदारियों के प्रति चैतन्य रहकर साहित्य सर्जना में और सक्रियता से लगना  होगा।उक्त अवसर पर तमाम बुद्धिजीवी उपस्थित रहे।

Comments