अयोध्या 14 कोसी परिक्रमा में उमड़े लाखों श्रद्धालु, सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम

अयोध्या की प्रसिद्ध 14 कोसी परिक्रमा में परिक्रमा पथ पर आस्था का सैलाब देखा गया।

आस्था की डगर पर लाखों नंगे पाँव जय श्रीराम का जयघोष करते हुए परिक्रमा पूरी करने के लिए निकल पड़े।परिक्रमा पथ कैसा भी हो लेकिन जुनून है तो सिर्फ आस्था का।आस्था का प्रतीक माने जाने वाले 14 कोसी परिक्रमा आज सुबह 6: 52 पर शुरू हुई जिसके बाद परिक्रमा पथ पर लाखों श्राद्धालु झूम कर जय श्रीराम के नारे की घोष के साथ निकल पड़े।

देश के कोने-कोने से 14 कोसी परिक्रमा करने आए लाखों श्रद्धालु नंगे पाओं परिक्रमा पथ पर जय श्री राम का घोष करते हुए निकल पड़े। परिक्रमा पथ कैसा भी हो लेकिन जुनून है तो बस परिक्रमा पूरी करने का।अयोध्या और फैजाबाद की परिधि में लगभग 42 किलोमीटर की परिक्रमा 24 घंटे के अंदर पूरी करनी होती है लेकिन श्रद्धालुओं का जुनून ऐसा कि कुछ लोग 6 घंटे में 7 घंटे में तो कुछ 8 से 10 घंटे में पूरी कर लेते हैं।

अयोध्या नया घाट फैजाबाद के नाका सहादतगंज गुप्तार घाट लक्ष्मण घाट होते हुए  परिक्रमा का यह हुजूम नया घाट पहुंचता है हालांकि कोई भी श्रद्धालु किसी भी स्थान से अपनी परिक्रमा शुरू कर सकता है और फिर आकर वहीं पर खत्म करता है। यह सिलसिला तब तक चलता रहेगा जब तक श्रद्धालुओं की 14 कोसी परिक्रमा पूरी नहीं हो जाती।

अयोध्या की संवेदनशीलता को देखते हुए संगीनों के साए में परिक्रमा को संपन्न कराया जा रहा है।अयोध्या के सभी प्रवेश द्वार पर बैरिकेडिंग कर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने का दावा किया गया है। परिक्रमा करने के पूर्व व परिक्रमा करने के बाद लाखों श्रद्धालु सरयू में स्नान कर दान पुण्य कर रहे हैं।

Loading...
Loading...

Comments