बगहा की प्राचीन मंदिरे अदूदर्शिता का शिकार इनकी जीर्णोद्धार का करूंगा प्रयास:दीपक यादव

बगहा की प्राचीन मंदिरे अदूदर्शिता का शिकार इनकी जीर्णोद्धार का करूंगा प्रयास:दीपक यादव

रविकेश पाठक

बगहा,प.च.(बिहार)

बगहा के कई बुद्धिजीवी और चिंतन करने वाले समाजसेवियों के साथ बगहा के प्राचीन मंदिरों के उपेक्षित दशा को आज एहसास करने को मिला।आज हम लोगों ने बगहा के कई प्राचीन मंदिर देखे जिनकी हालत बहुत अच्छी नहीं है।

उक्त बातें भाजपा युवा नेता बगहा तिरुपति चीनी मिल के एमडी दीपक यादव ने कही।श्री यादव ने आगे कहा कि सब लोगों की यह उम्मीद है की बगहा के खूब सूरत इतिहास को किसी तरह फिर से जीवित किया जाए। यह काम मेरी सोच है की सब लोगों की सहमति और सार्वजनिक बगहा वासियों के सहयोग से होना चाहिए,ताकि सब लोगों में एक प्यार और जागरूकता का माहौल बने और यह एहसास हो की जब सब की सहमति और सहयोग से कोई काम होता है तो हम लोग नामुमकिन को भी मुमकिन कर सकते हैं।

 

दीपक यादव ने कहा कि अपने बगहा वासियो को वादा करता हूं की मैंने आज कुछ सपने देखे हैं की बगहा का इतिहास को एक दिन ख़ूबसूरती मिले और मैं आप लोगों के साथ मिलकर और आपसी सोच विचार कर जो भी ताक़त इस सपने को साकार करने में लगेगी उसको आप लोगों के सहयोग से करने की कोशिश करूंगा।

 

उन्होंने आगे कहा कि इस काम को साधारण ना समझें, सबसे पहले इसकी प्लानिंग करने के लिए आप सब लोग इसके एतिहासिक कागज, तस्वीरें या इससे जुड़ी सारी जानकारी इकट्ठी करने में मदद करें ।

क्योंकि हम कोई काम करेंगे तो अच्छा और खूबसूरत करेंगे,समय लगेगा मगर बहुत अच्छा काम करेंगे इस लिए मैं जानता हूं कि रास्ता कठिन और लम्बा है मगर सबका साथ होगा तो सब कुछ सम्भव बनाकर दिखाएंगे।

Attachments area

 

Comments