डाॅक्टर ने संभाला अमलोर खदान का र्मोचा  

डाॅक्टर ने संभाला अमलोर खदान का र्मोचा  
  • बहरूपिया सत्ता पक्ष के एक मंत्री का बताता है करीबी 

बाँदा-

जनपद की अमलोर खदान मे अवैध बालू खनन हो रहा है पोकलैण्ड जेसीबी लिफटर मशीनो से नदी की जलधारा केा मोड कर खनन का काम जोडो पर चल रहा है यदि अवैध बालू खनन पर जल्द ही जिला प्रशासन  का चाबुक नही चलता तो पेयजल समस्या की स्थित भयावह हो जायेगी हालाकि जिला अधिकारी द्धारा चुनाव खत्म होेते ही पेयजल समस्या को देखते हुये युद्ध स्तर पर काम शुरू कर दिया है। 


जनपद भर मे बालू माफियाओ का मकरजाल फैला हुआ है और सभी लूट सको तो लूट वर्णना मौका हाॅथ से जायेगा छूट की र्तज पर सक्रिय रूप से काम कर रहे है लेकिन अवैध बालू खनन मे अजीब सी एकता देखने को मिलती है यू तो कोई किसी से कम नही

लेकिन आपसी बिरोध भी नही करते बल्कि संकट की घडी मे सब एक दूसरो का सहयोग व बचाव करने मे जुट जाते है इन दिनो जनपद की पैलानी थाना अन्र्तगत अमलोर खदान सुर्खियो मे है खदान संचालक द्धारा एनजीटी के नियमो की धज्जिया उडाई जा रही है मिली जानकारी के अनुसार एक झोला छाप डाॅक्टर बालू खदान मे शामिल हो गये है जब से डाॅक्टर साहब ने अमलोर खदान का र्मोचा संभाला है सारे नियम कांनूनो को ताक पर रख कर जलधारा को मोड लिफटर द्धारा जलधारा के बीच से बालू निकलवा रहे है और संचालक को कह दिया है आप चिन्ता ना करे।


सीमांकन से अलग हट कर व बडी बडी मशीनो से जलधारा  मे खुदाई की जा रही है जिससे बडी तेजी के साथ जलस्तर नीचे गिरता ही जा रहा है और इसे उपर लाने के लिये कोई वैकल्पिक व्यवस्था भी नही है यदि जिला प्रशासन द्धारा बालू खदानो मे सयुक्त टीम बनाकर जनपद भर मे औचक छापा मारी करते हुये लिप्त पाये जाने पर तत्काल प्रभाव से कार्यवाही की जाये तो बालूमाफियाओ मे हडकम्प मच जायेगा

इन तमाम कार्यवाहियो से पेय जल समस्या मे बहुत हद तक निपटने मे कामयाबी मिल जायेगी बालू एक एैसा धन्धा हो गया है की जिसको देखो वही बालू के कारोबार मे जुड कर लखपति बनना चाहता है और तमाम बन भी गये है स्थानीय लोगो की माने तो झोला छाप डाॅक्टर कांफी दिनो से खदान संचालक के आगे पीछे घूम रहा था ताकि उसे भी खदान मे शामिल कर लिया जाये जिस दिन से डाॅक्टर साहब खदान मे शामिल हुये है

रात दिन सीमांकन से अलग हट कर तमाम नियम कांनूनो को ताक पर रख कर अवैध खनन करवा रहे है इतना ही नही इनसे संचालक सहित सभी पार्टनरो को चैगुनी कमाई हो रही है सभी खुश है खदान से सम्बधिन्त सभी को खुश करने की भी कला पाई जाती है बहरूपिया सत्ता पक्ष के एक मंत्री का करीबी बताता है इतना ही नही यह प्रशासनिक अमले पर भी दबाव बनाने का भरसक प्रयाश करता है

ग्रामीण दहशत जदा भी है और इनकी कार्यशैली से आक्रोशित भी है  वही विभागीय सूत्रो की माने तो खनिज निदेशक द्धारा टीम बनाकर कार्यवाही करने के निर्देश दिये जाते है लेकिन जिम्मेदार अधिकारी द्धारा निदेशक को भी सब कुछ ठीक चल रहा है की जानकारी दे दी जाती है। जबकी कुछ भी ठीक नही है  
 

Comments