ओरन/बांदा की बड़ी खबरे

ओरन/बांदा  की बड़ी खबरे

सादा जीवन उच्च विचार के आदर्शों को अपनायें विद्यार्थीः डीएम

  • - जिलाधिकारी ने जेएन कालेज के छात्र निर्माण संवाद में व्यक्त किये विचार

बांदा

विद्यार्थी सादा जीवन उच्च विचार के आदर्श को अपनायें तथा जीवन में फैशन डिजाइन से दूरी बनाकर जीवन का लक्ष्य निश्चित कर लें। समय बहुमूल्य है इसका उपयोग टाइम टेबल बनाकर करें ताकि समय बर्बाद न होने पाये। उक्त विचार जिलाधिकारी हीरा लाल ने पं0 जवाहर लाल नेहरू काॅलेज में आयोजित छात्र निर्माण संवाद के दौरान व्यक्त किये।

जिलाधिकारी हीरा लाल ने कहा कि प्रत्येक विद्यार्थी अपने जीवन का एक लक्ष्य निर्धारित कर ले तथा माता-पिता से राय लेकर उनकी सहमति सहित अपनी रूचि लिखकर विद्यालय शिक्षक को दे कि वह पढ-लिखकर क्या बनना चाहता है ताकि उसकी रूचि के अनुसार आगे प्रशिक्षण दिलाकर सहयोग किया जा सके। उन्होंने कहा कि हर आदमी को समय के हिसाब से काम करना चाहिए। पढाई के समय मोबाइल एवं फैशन डिजाइन को न अपनायें केवल मोबाइल का उपयोग पढाई सम्बन्धी जानकारी के लिए करें। उन्होंने छात्रों से सुबह उठकर माता-पिता के पैर छूने एवं उनको हमेशा सम्मान देने की बात कही।

जिलाधिकारी ने पढाई हेतु अच्छे वातावरण की जरूरत हेेतु शुद्ध आक्सीजन जिसके लिए वृक्ष लगाने पर बल दिया। जनपद में पानी की समस्या पर तालाब कुआं जियाओ एवं जल संचयन के बारे में जानकारी करायी। जिलाधिकारी ने छात्रों को स्वस्थ्य रहने के लिए सुुबह उठकर योगा करने तथा प्लास्टिक से दूरी बनाने के निर्देश देते हुए प्लास्टिक से होने वाले कैंसर जैसी बीमारियों के बारे में जानकारी करायी। जिलाधिकारी ने छात्रों से अपेक्षा किया कि दीपवली में पटाखों आदि का प्रयोग न करें

क्योंकि इनसे प्रदूषण फैलता है। उन्होंने कहा कि इस बार की दीवाली जल दीपावली के रूप में मनायें। प्रत्येक पानी देने वाले हैण्डपम्प, कुआं एवं तालाबों में दीपदान कर उनकी पूजा करें। कार्यक्रम का शुभारम्भ जिलाधिकारी द्वारा सरस्वती चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया। डा0 अतुल शुक्ला द्वारा सरस्वती वन्दना एवं प्रधानाचार्य डा0 नन्दलाल शुक्ला ने अपने विचार व्यक्त करते हुए छात्रों से जिलाधिकारी महोदय द्वारा हुए संवाद को प्रत्येक दशा में पालन कर लाभ उठाने की अपेक्षा की तथा कहा कि महोदय द्वारा प्र्रस्तुत किये गए सार्थक विचारोें का प्रत्येक विद्यार्थी द्वारा पालन किया जायेगा।

इस अवसर पर डा0 के0एस0कुशवाहा, डा0 आरती पाण्डेय, डा0 दिव्या सिंह, डा0 छवि पुरवार, डा0 ओंकार चैरसिया उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डा0 ऊषा सेन द्वारा किया गया तथा बैच अलंकरण बी0एड0 के छात्र वैभव द्वारा किया गया। इसके पूर्व एन0सी0सी0 के बच्चों द्वारा जिलाधिकारी को सलामी दी गयी। इस अवसर पर विद्यालय के छात्र/छात्रायें उपस्थित रहे। 

 

ग्रामीण अवस्थापना केंद्रों में रखे जाएं अन्ना मवेशीः आयुक्त
अतर्रा/बांदा। अन्ना पशुओं व गायों को मंडी समितियों के अंतर्गत बने ग्रामीण अवस्थापना केंद्रों में रखने का ज्ञापन आयुक्त चित्रकूटधाम मंडल को प्रगतिशील किसान, अधिवक्ता राजेश द्विवेदी गुमाई अतर्रा ने देकर कार्यवाही की मांग की थी, जिस पर आयुक्त ने संज्ञान लेते हुए उप जिला अधिकारी मंडी सभापति सौरभ शुक्ला को पत्र भेजकर कृषि उत्पादन मंडी समिति अतर्रा अतंर्गत बने ग्रामीण अवस्थापना केंद्रों पर अन्ना मवेशी रखने के निर्देश जारी किए हैं। 

ज्ञात रहे तहसील क्षेत्र के किसान अधिवक्ता राजेश द्विवेदी ने आयुक्त चित्रकूट धाम मंडल को दिए ज्ञापन में अवगत कराया था कि ग्रामीण अवस्थापना केंद्रों में अन्ना पशुओं को स्थाई रूप से रखे जाने के लिए मांग की थी। जहां सुरक्षा हेतु मंडी समितियों में पहले से ही पीआरडी सुरक्षा गार्ड भी लगे हुए हैं। ग्रामीण अवस्थापना केंद्रों पर सारी सुविधाएं मौजूद हैं जो बाउंड्री वाल, बोरिंग पंप हाउस, गोदाम, विद्युतीकरण व टीन सेड से लैस है। जानवरों के लिए गोदाम भी बने हैं, जहां चारे भूसे की व्यवस्थाएं की जा सकती है। इन अवस्थापना केंद्रों पर अन्ना पशुओं को रखने से किसानों को अन्ना पशुओं से निजात मिल सकती है। कृषक भी खेती में रुचि लेंगे और पलायन को रोका जा सकता है

साथ ही शासन द्वारा अन्ना जानवरों के कारण हुई दुर्घटनाओं में करोड़ों रुपए भुगतान की बचत की जा सकती है, जिसे आयुक्त ने गंभीरता से लेते हुए बुंदेलखंड क्षेत्र में मंडी समिति अंतर्गत ग्रामीण अवस्थापना केंद्रों में अन्ना पशु एकत्र कराकर उनके चारे भूसे, पानी आदि की व्यवस्था कराते हुए अन्ना प्रथा को समाप्त करने के निर्देश दिए है। उप जिलाधिकारी मंडी सभापति सौरभ शुक्ला ने पत्र मिलते ही नगर पंचायत क्षेत्र अंतर्गत मोतिहारी स्थित कृषि उत्पादन मंडी में अन्ना जानवरों को रखे जाने के लिए अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत नरैनी अमर बहादुर सिंह को निर्देशित किया है। आयुक्त के इस निर्देश की खबर मिलते ही पशुपालकों, किसानों में खुशी की लहर दौड़ गई है।

 

व्याख्यान के जरिए बताई गई उपयोगिता 
अतर्रा/बांदा। राजकीय इंजीनियरिंग कालेज में आज व्याख्यान का आयोजन किया गया। एक्सिस इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलाजी एंड मैनेजमेंट कानपुर से सोमेश कुमार सक्सेना एसोसिएट प्रोफेसर अप्लाइड साइंस एवं ह्यूमेनटीज विभाग द्वारा क्वांटम मैकेनिक्स विषय पर व्याख्यान देते हुए छात्र-छात्राओं को उसकी उपयोगिता के बारे में बताया। छात्रों द्वारा व्याख्यान की सराहना की गई। संस्थान के कुलसचिव डा. आशुतोष तिवारी द्वारा आए हुए अतिथियों का आभार व्यक्त किया एवं कालेज के निदेशक प्रोफेसर एसपी शुक्ला द्वारा कार्यक्रम की सराहना की गई तथा छात्रों को इस प्रकार के व्याख्यान को उनके अध्ययन में हितकारी बताते हुए ऐसे व्याख्यान को भविष्य में कराते रहने की बात कही। 

 

अधिकारों के बारे में दी गई जानकारी 
अतर्रा। भारतीय सामाजिक संस्थान एवं जन शिक्षण प्रशिक्षण समिति द्वारा नव युवतियों को भारत के संविधान एवं मौलिक अधिकारों के बारे में जानकारी देकर मजबूत करने के टिप्स दिए। जन शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान के प्रबंध निदेशक शिव कुमार द्वारा अपने कैंप ऑफिस में नव युवतियों को भारत के संविधान एवं मौलिक अधिकारों के बारे में जानकारी देते हुए अधिकारों को पाने के गुण सिखाए और महिला सशक्तिकरण मजबूत करने का प्रयास किया। कार्यशाला में रोशनी नामदेव, खुशबू सिंह, दीपिका सहित अन्य युवतियां शामिल रहीं। 

 

दो बहनों के अपहरण में आधा दर्जन के खिलाफ मुकदमा दर्ज 
तिंदवारी/बांदा। शौच करने गई दो नाबालिग सगी बहनो का अपहरण कर लिया गया। पिता की तहरीर पर गांव के आधा दर्जन लोगों पर अपहरण समेत कई मामले पुलिस ने दर्ज किए हैं। 
थाना क्षेत्र के एक गांव में 17 अक्टूबर की शाम शौच को गई दो सगी बहनों का अपहरण कर लिया गया। पिता की तहरीर पर पुलिस ने गांव के छह लोगों जाबिर पुत्र जमील खां, महबूब पुत्र अजूब खां पर अपहरण करने का आरोप लगाते हुए इशरार खां पुत्र जुल्फिकार, मुराद व मुश्ताक पुत्रगण हाफिज खां, जुग्गीलाल पुत्र अयूब खां पर जाबिर व महबूब का साथ देने का आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 363, 366, 506 पर मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। 

 

प्रशासन की सह पर धड़ल्ले से हो रहा है अवैध खनन

  • - डेढ़ दर्जन से ज्यादा ट्रैक्टर बालू लादकर भरते हैं फर्राटा 
  • - तक्कों के जरिए पल भर में पहुंच जाती हैं कोई भी सूचना 

ओरन/बांदा। प्रशासन की सह से धड़ल्ले से बालू का अवैध खनन कारोबार चल रहा है। बालू कारोबारी राजस्व को प्रतिदिन लाखों का चूना लगा रहे हैं। इसके साथ ही शासन की मंशा पर भी बट्टा लगा रहे हैं। रात के अंधेरे में बालू कारोबारियों द्वारा बागैन दी से बालू डंप करा ट्रैक्टरों के जरिए ढुलाई कराई जा रही है। 
बदौसा थानान्तर्गत भदावल, कुल्लूखेड़ा, उतरवां में बागै नदी से प्रशासन की सह से धड़ल्ले से बालू का अवैध कारोबार चल रहा है। रात भर बालू माफियाओं द्वारा बागै नदी से बालू डंप करा ट्रैक्टरों के द्वारा पूरी रात्रि आसपास के क्षेत्रो में   धड़ल्ले के साथ सप्लाई की जाती है। दिन में भी बालू भरे ट्रैक्टर फर्राटे भरते हुए देखे जा सकतें है। बालू माफियाओं द्वारा ओरन, चैसड, सिंहपुर, उतरवां के नुक्कडो में रात में तक्का भी बैठाये जाते हैं। कोई भी चार पहिया या अधिकारियों आने पर तत्काल सूचना घाट तक पहुंच जाती है, जिससे घाट में लोग सतर्क हो जाते हैं। बालू माफियाओं को संबंधित इलाकाई पुलिस को छोड़ अन्य उच्चाधिकारियों का डर रहता है। अवैध खनन में लगभग डेढ़ दर्जन टैक्टर लगे हुए है।

 

टूटी पुलिया में आए दिन हो रहे हादसे 
ओरन/बांदा। ओरन से अतर्रा को जाने वाली मुख्य सड़क चुहका पुरवा में पीडब्ल्यूडी की पुलिया स्थित है। यह पुलिया छः माह से पूरी तरह से टूट चुकी है, जिसमे बरसात के मौसम में पुलिया टूटी होने से लोगों के घरों में पानी भरने लगा है। इससे लोगों ने सड़क को काट डाला। सड़क कटने व पुलिया टूटने के कारण आए दिन पुलिया में हो रहे हादसों और दुर्घटनाओं से लोग दहशत में हैं। पीडब्ल्यूडी विभाग आंखें मूंदे व मूकदर्शक बना बैठा हुआ है। इससे स्थानीय लोगो को और अतर्रा को जाने वाले रोजना सैकड़ों लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पुलिया टूटने के कारण लोगों को बिसंडा से घूमकर व चक्कर लगा कर जाना पड़ता है। स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत कई बार जिले के शीर्ष अधिकारियों से की गई, लेकिन कोई इस ओर ध्यान देने तैयार नहीं है। 


 

Comments