बैंकों की हड़ताल से बहराइच में दूसरे दिन भी दो अरब का कारोबार प्रभावित

बैंकों की हड़ताल से बहराइच में दूसरे दिन भी दो अरब का कारोबार प्रभावित


बहराइच। 

यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन के आह्वान पर बुधवार को दूसरे दिन भी जिले के सभी बैंकों में ताले लटकते रहे।

बैंक कर्मियों ने कामकाज से विरत रहकर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। सामूहिक सभा करते हुए सरकार पर हठधर्मिता का आरोप लगाया। जिले के सभी १२९ बैंकों में ताले लटकने से लगभग दो सौ करोड़ का बैंकिंग कारोबार प्रभावित हुआ है।

बैंकों के हड़ताल से उपभोक्ताओं को भी समस्याओं का सामना करना पड़ा। लोग अपनी जरूरत के लिए पैसा निकालने बैंक पहुंचे, लेकिन हड़ताल का पता लगने पर उल्टे पांव लौटने को मजबूर रहे।


यूनाईटेड फोरम आफ बैंक यूनियन के निर्देश के तहत बुधवार को दूसरे दिन भी यूपी बैंक इंप्लाईज यूनियन के बैनर तले बैंककर्मी हड़ताल पर रहे। सुबह दस बजे बैंककर्मियों ने बैंकों के गेट पर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

सभी बैंक की १२९ बैंक शाखाओं में तालाबंदी रही। इससे जिले में बैंकिंग कामकाज पूरी तरह ठपरहा। लगभग दो सौ करोड़ का लेनदेन प्रभावित हुआ। मंडलीय इलाहाबाद कार्यालय शाखा परिसर में बैंक कर्मियों की सभा हुई।

सभा को संबोधित करते हुए यूपी बैंक इंप्लाइज यूनियन के अध्यक्ष दिनेश कुमार व जिला मंत्री कृष्णकांत अवस्थी ने कहा कि सरकार बैकिंग व्यवस्था में सुधार के प्रति गंभीर नहीं है। जिसके चलते हड़ताल का निर्णय लेना है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की जनविरोधी नीति तथा मजदूर विरोधी श्रम नीति से बैंकों में दिक्कतें बढ़ रही हैं। प्रतिगामी बैकिंग सुधार उपाय नहीं अपनाए जा रहे हैं। निजीकरण और विलय खराब ऋणों की वसूली न करके मनमाने तरीके से बैकिंग व्यवस्था संचालित करने की कोशिश हो रही है।

कर्मचारियों की भर्ती न होने से प्रतिदिन बैंक कर्मी समस्याओं से जूझ रहे हैं। सहायक मंत्री अफरोज आलम लारी ने कहा कि बैंक कर्मियों को पेंशन देने की मांग अरसे से हो रही है। लेकिन सरकार चुप्पी साधे हुए है। नियुक्तियों को बहाल नहीं किया जा रहा है।

इसके चलतेे हड़ताल का सहारा लेना पड़ा है। हड़ताल के चलते २०० करोड़ से अधिक का बैंकिंग कारोबार ठप हुआ है। इस बारे में सरकार को सोचना चाहिए। उन्होंने सभी से एकजुटता बनाए रखने की बात कही है। सभा को शिवाजी जायसवाल, राकेश कुमार, वैभव, लालजी जायसवाल, राजेंद्र मीना, योगेश वर्मा, प्रीतम, शक्ति कुमार, प्रदीप कुमार, महेश,

जमाल, अनिल यादव, रामकुमार, रामअवतार, विवेक सिंह, विवेक यादव, चंदन समेत सैकड़ों बैंककर्मी मौजूद रहे। उधर इलाहाबाद यूपी ग्रामीण आफिसर्स एवं इंप्लाइज एसोसिएशन अरेबिया के अध्यक्ष घनश्याम त्रिपाठी व इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक अधिकारी संघ के अध्यक्ष सुशील कुमार श्रीवास्तव की अगुवाई में बैंक अधिकारी भी हड़ताल पर रहे। सभी ने कहा कि सरकार द्वारा सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद पेंशन योजना नहीं लागू की जा रही।

प्रोन्नति नीति में असमानता बरकरार है। अनियमित कर्मियों को नियमित नहीं किया जा रहा है। इस अवसर पर क्षेत्रीय कार्यालय में सभा भी हुई। जिसे अधिकारी संघ भिनगा के अध्यक्ष ओमपाल सिंह, बृजेंद्र अवस्थी, राजकुमार मिश्रा, केएन तिवारी, जेएल अग्रवाल, एके गुप्ता, मोहम्मद सलीम, संदीप पांडेय, आशा साह आदि ने संबोधित किया।

संचालन शशांक त्रिपाठी ने किया। सभी बैंकों के इकाई नेताओं ने कहाकि जब तक मांगें पूरी नहीं हो जाती, आंदोलन थमने वाला नहीं। बैैंक संगठनों के नेताओं ने लंबित मांगों के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए हठधर्मिता का भी आरोप लगाया।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments