अधिकारियों की मिलीभगत से दर्जनों गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय हो रहे हैं संचालित

अधिकारियों की मिलीभगत से दर्जनों गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय हो रहे हैं संचालित

रामसनेहीघाट बाराबंकी


शिक्षा क्षेत्र बनीकोडर अंतर्गत


शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से बनी कोडर शिक्षा क्षेत्र में 2 दर्जन से अधिक गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय संचालित किए जा रहे है लेकिन विभागीय अधिकारी नोटिस देकर वसूली में व्यस्त है।


ज्ञात हो कि शिक्षा विभाग द्वारा विगत कई माह से गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही की गई थी जिसके तहत उपजिलाधिकारी ने खंड शिक्षा अधिकारी के साथ कई विद्यालयों का निरीक्षण करके बगैर मान्यता के चल रहे विद्यालयों को बंद करने के निर्देश दिए थे

शासनादेश के मुताबिक बगैर मान्यता के चल रहे विद्यालयों को नोटिस देने के बाद बंद न करने पर प्रतिदिन एक लाख रूपए जुर्माना देने का प्रावधान किया गया है। उप जिलाधिकारी ने कई विद्यालयों को नोटिस देकर बंद करवा दिया था

लेकिन वही सारे विद्यालय फिर संचालित किए जा रहे हैं लोगों के मुताबिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत के कारण विद्यालय संचालित हो रहे हैं। गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों में ना तो शिक्षण की सही व्यवस्था होती है और ना ही स्टाफ को ही सुविधाएं मिलती है

इसी क्रम में मंगलवार को शाहपुर मुरारपुर स्थित बाबा राम प्यारे स्मारक विद्यालय का जायजा लिया गया तो पता चला की टीन सेट रखकर झोपड़ी नुमा 8 कमरे बनाए गए विद्यालय में बच्चों के वॉशरूम जाने तक के लिए ना तो शौचालय है और ना ही कोई अन्य सुविधा यही नहीं महिला टीचर भी आवश्यकता पड़ने पर बाहर खेतों में जाती हैं

विद्यालय में मौजूद अध्यापक अमरजीत यादव ने बताया कि विद्यालय को अभी तक मान्यता नहीं मिली है इस विद्यालय में इस समय 140 छात्र-छात्राएं हैं जिनको 5 अध्यापकों द्वारा शिक्षा दी जा रही है विद्यालय के प्रधानाचार्य मुलायम सिंह यादव भी विद्यालय से नदारद रहे इस विद्यालय के प्रबंधक प्रधानाचार्य के पिता राम धीरज यादव से भी संपर्क नहीं हो सका

कुल मिलाकर अकेला यही विद्यालय नहीं है बल्कि इसके साथ करीब 2 दर्जन से अधिक गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों के रहमों करम पर चल कर सरकार की मंशा और शासन आदेश की धज्जियां उड़ा रहे हैं। इस संबंध में खंड शिक्षा अधिकारी अजीत प्रताप सिंह बताते हैं कि गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों को नोटिस जारी की गई थी

जिसमें से 6 विद्यालयों को मान्यता मिली है इसी के साथ गैर मान्यता प्राप्त टिकरा बाजार स्थित मां ज्वालामुखी विद्यालय मेडूवा स्थित रघुराज प्रताप स्मारक विद्यालय कथा देवीगंज स्थित संकट मोचन हनुमान विद्यालय पर कार्यवाही करते हुए एक एक लाख रूपए का जुर्माना किया गया है तथा गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों के विरुद्ध गुरुवार से अभियान चलाकर कार्यवाही की जाएगी

इसके पूर्व गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय के प्रबंधक अपने विद्यालय बंद कर ले अन्यथा विद्यालय का संचालन होते हुए पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जबकि सूत्र बताते है कि खंड शिक्षाधिकारी की मिलीभगत से क्षेत्र में दर्जनों प्राइवेट विद्यालय बिना मान्यता के चल रहे है जिनसे विभाग द्वारा अवैध वसूली की भी चर्चाएं क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है।

शिक्षा विभाग के रहमो करम पर विना मान्यता के संचालित हो रहे विद्यालय

क्षेत्र में हरिबंश राय राजरानी धनौली खास, एकता शिक्षण संस्थान मल्लूपुर, रतन पांडेय उ0प्रा0वि0 धारूपुर, राम सेवक यादव स्मारक विद्यालय इमामगंज, बाबा सहजराम स्मारक विद्यालय दुल्लापुर, रामानन्द शिक्षा निकेतन बसैगापुर, माँ विंध्यवासिनी विद्यालय लोधपुरवा, शीतला प्रसाद बेलहा, माँ वीणा वादिनी पूरे दुनिया, रामदीन कलावती सुनौली, सहित करीब दो दर्जन विद्यालय स्थानीय


विना मान्यता के संचालित किए जा रहे है जिन्हें नोटिस भी जारी की जा चुकी है लेकिन धडल्ले से चलाए जा रहे है।


Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments