खनिज विभाग ने बेरी व रमेडी खदानो मे मारा छापा 14 ओवरलोड ट्रक को किया सीच

खनिज विभाग ने बेरी व रमेडी खदानो मे मारा छापा 14 ओवरलोड ट्रक को किया सीच

खनिज विभाग की निदेशक रोशन जैकब नें अचानक मुख्यालय पहुंची। उनके साथ लखनऊ से वरिष्ठ जियोलॉजिस्ट व पांच जिलों के खनिज अधिकारी भी थे।

निदेशक ने मुख्यालय के रमेड़ी सेंट्रल खदान व बेरी खदान का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मिले 14 ओवरलोड मौरंग भरे ट्रकों को संबंधित थानों में खड़ा कराया गया है और खनिज की छह टीमें जिले की मौरंग खदानों में छापामार कार्रवाई में जुटी हैं।

मुख्यालय के रमेड़ी व कुरारा क्षेत्र के बेरी गांव स्थित मौरंग खदान का खनिज निदेशक रोशन जैकब ने खुद निरीक्षण किया। उनके साथ वरिष्ठ खनन अधिकारी एसके सिंह, वरिष्ठ जियोलॉजिस्ट मुख्यालय जीपी सिंह मौजूद रहे। निरीक्षण के दौरान इन खदानों पर खनन का कार्य बंद मिला। खनन क्षेत्र से बाहर पोकलैंड मशीनें खड़ी मिली। दूसरी टीम में खनन अधिकारी सहारनपुर एजाज अहमद ने टीकापुर खदान का निरीक्षण किया। 

भुलसी खदान का निरीक्षण खनिज अधिकारी सनी कौशल व खनिज अधिकारी आगरा आशीष द्विवेदी ने किया। चंदवारी, घुरौली, रिरुआ बसरिया खदानों का निरीक्षण खनिज अधिकारी हरदोई वशिष्ठ यादव ने व भेड़ी खरका का निरीक्षण खनिज अधिकारी मुख्यालय रंजीत निर्मल व खनिज अधिकारी मथुरा अमित रंजन ने और चिकासी खदान का निरीक्षण खनिज अधिकारी बदायूं नरेंद्र कुमार ने किया। 

इन सभी स्थानों पर खनन का कार्य बंद मिला और मजदूर बैठे मिले। निदेशक ने बताया कि जिले में ओवरलोड भारी वाहनों का परिचालन काफी चल रहा है। जिसे रोकने के लिए आसपास के जनपदों से समन्वय स्थापित कर प्रभावी ढंग से रोके जाने की कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। बताया ओवरलोड, अवैध खनन रोकने का प्रयास लगातार जारी है। पैमाइश में जितना भी एमएम-11 के अनुसार अधिक खनन पाया गया। 

उसके अनुसार पांच गुना अधिक पेनाल्टी लगाई जाएगी। पेनाल्टी के साथ ही वार्षिक मात्रा में अनुमन्य खनन की मात्रा से घटाया भी जाएगा। साथ ही प्रत्येक गाड़ी पर 25 हजार का जुर्माना व जितना अतिरिक्त माल रहेगा उसका 5 गुना वसूल किया जाएगा। 

निदेशक ने कहा कि खदान संचालक अगर खनन पट्टों की शर्तों का उल्लंघन करते मिला तो पट्टा निरस्त करने के साथ ही जुर्माना वसूली की कार्रवाई की जाएगी। खदान संचालक नियमानुसार खनन करें। वरिष्ठ खनिज अधिकारी एसके सिंह ने कहा कि खदानों में नापजोख जारी रहेगा।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments