प्रमुख का शासन सत्ता में हनक बरकरार, फिर भी विकास कार्य दरकिनार

 प्रमुख का शासन सत्ता में हनक बरकरार, फिर भी विकास कार्य दरकिनार
  • चुनावी जुमले बन कर रह गई कई अर्से से क़स्बा इचौली की सड़क

अंकुर यज्ञसेनी

टिकैत नगर बाराबंकी न्याय पंचायत क़स्बा इचौली के आबादी के अन्दर से होकर जानें वालीं मुख्य मार्ग का आज तक डमरी करण सम्बन्धित जिला प्रशासन के विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों के द्वारा आज तक नही कराया जा सका है। जबकि इसी मुख्य मार्ग पर से होकर ब्लाक प्रमुख जी (पूरेडलई )अपने गृह को आते जाते हैं और लगभग 30 सालों से इस मुद्दे पर वादे व चर्चा के सिवा कुछ नहीं किया गया। डमरी करण सिर्फ और सिर्फ चुनावी वादो का जुमला बनकर रह गया। जिससे जनमानस में सरकार के प्रति रोष व्याप्त है बताते चले कि ग्राम कस्बा इचौली का मुख्य मार्ग जो कि काफी जर्जर था जिसको कुछ माह पूर्व में कुछ भाग में आर0सी0सी0 का निर्माण कराया गया था लेकिन जो भाग बच गया था उस पर अभी तक सड़क निर्माण नही हो वही है वही जिस भाग पर सड़क निर्माण नही हुआ है वह भाग मुख आबादी एवम कस्बा इचौली का मुख्य चौराहा भी शामिल है और जगह जगह पर पड़े पत्थर भी उखड़ गए है वही नालियों के टूटे होने की वजह से नालियों का पानी सड़को पर बह रहा है जिससे आने जाने वाले राहगीरों एवम स्कूल जाने वाले छोटे छोटे बच्चो को भी काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है जिससे कई बार यह भी देखने को मिला है कि उनको चोटे भी लग जाती है लेकिन एक बार प्रशासन का ध्यान जाने के बाद भी कही भटक सा गया है वही राज्य सरकार व भारत सरकार के कई विशिष्ट मंत्रियों के द्वारा सार्वजनिक तौर पर क्षेत्र की जनता-जनार्दन से वादा किया गया था कि चुनाव खत्म होने के बाद इस समस्या के समाधान के लिए पक्की सड़क का निर्माण कार्य कराया जा सकता है किंतु ऐसा कुछ विशेष नही हो रहा है जिससे जनता-जनार्दन को इस समस्या से निजात मिल सके। 

एक तरफ तो मोदी सरकार व योगी सरकार के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में विकास की बात कही जाती है और ग्रामीण क्षेत्रों के संपर्क मार्गों का पक्का व डमरी करण कराके शहरों से जोड़ने की व्यवस्था की बात कही जाती रही हैं किंतु यहाँ पर ऐसा कुछ प्रत्यक्ष प्रमाण में शून्य साबित हो गया है यहीं वजहों से समाज व देश के नागरिकों को अच्छा परिवाहन व आवागमन की सुविधा प्राप्त नहीं हो पा रही हैं जिससे जनमानस को लाभ पहुंचाने के लिए इस मार्ग का डमरी करण कराया जाना अति आवश्यक कार्य की श्रेणी मे आता है इस मार्ग का डमरी करण हो जाने से लगभग तीन दर्जन गावों को एक अच्छा आवागमन मार्ग प्रदान किया जा सकता है। जो जनता  व सरकारों के हित में होगा इस सड़क की समस्या के विषय मे सभी संबंधित विभागीय अधिकारियों को गंभीरता से विचार कर इसका डमरी करण कराके लाभ पहुंचाने का लोकहित कारी कार्य किया जाना चाहिए और  सडकों के किनारे लंबे व घने छायादार व फल दार वृक्षों का वृक्षारोपण कर सुंदर व स्वच्छ वातावरण हमारे समाज के नागरिकों को प्रदान किया जाना चाहिए जिससे आने वाली पीढ़ियों को ताज़ी हवा और ऑक्सीजन के साथ साथ एक नया एहसास भी संभव होगा परन्तु देखना यह है कि केन्द्र सरकार से लेकर राज्य सरकार के ब्लॉक प्रमुख भाजपा में अच्छी पैठ बनाने के बाद भी इस जनहित कार्य में कितना ततपर होते नजर आ रहे हैं जबकि जिस ब्लॉक में यह जर्जर हालत की सड़क हैं उसी ब्लॉक में ब्लॉक प्रमुख के पद पर आसीन हैं।

Comments