मेघनाथ के शक्ति बाण से लक्ष्मण हुए मूर्छित

मेघनाथ के शक्ति बाण से लक्ष्मण हुए मूर्छित

                रिपोर्टर - राकेश पाठक

हैदरगढ़ बाराबंकी-

रामलीला कोठी में हो रही अनवरत पंद्रह दिवसीय रामलीला में आज भगवान राम ने लंका पर आक्रमण करने से पहले अंगद को भेजकर शांति का संदेश दिया परंतु अहंकारी रावण ने भगवान राम के संदेश को ठुकराते हुए अंगद को ललकारा फिर अंगद ने भगवान राम का स्मरण करते हुए अपना पैर लंका में जमा दिया और कहा कि जो मेरा पैर धरती से हिला देगा मै माता सीता को यही छोड़ दूंगा।

और भगवान राम से निवेदन करके वापस अयोध्या लेकर चला जाऊंगा। लंका में उपस्थित सभी राक्षसों ने जोर लगाया और अंगद का पैर हिला न सके विवश होकर रावण ने पैर उठाने के लिए उठा तब अंगद ने अपना पहला हटा लिया।

और कहा कि तुम्हें जो करना है तो भगवान श्री राम के चरणों में जाकर झुको उसी से तुम्हारी मुक्ति मिलेगी आज की लीला में अंगद पैज लक्ष्मण शक्ति मेघनाथ वध

कुंभकरण वध अहिरावण वध की लीलाओं का मंचन किया गया अंगद के वापस आने पर भगवान श्रीराम ने लंका पर चढ़ाई कर दी भगवान राम के छोटे भाई

लक्ष्मण पर मेघनाथ ने शक्ति बाण का प्रयोग किया जिससे लक्ष्मण मूर्छित होकर धरती पर गिर गए फिर हनुमान ने लक्ष्मण को उठाकर भगवान श्री राम के पास ले गए भाई को मूर्छित देखकर भगवान राम ने काफी विलाप किया।

Comments