डॉक्टरों की लापरवाही से प्रसूता  की गई जान परिजनों ने काटा हंगामा

डॉक्टरों की लापरवाही से प्रसूता  की गई जान परिजनों ने काटा हंगामा

बाराबंकी


जनपद बाराबंकी में एक बार फिर डाक्टरों की लापरवाही का मामला सामने आया है जहां प्रसूता महिला की डॉक्टरों की लापरवाही से मौत हो गई है वही प्रसूता महिला की मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया है उधर दूसरी ओर प्रसूता महिला के परिजनों का कहना है कि लापरवाह डॉ व् एनम के ऊपर सख्त से सख्त कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज किया जाए

पूरा मामला बाराबंकी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिद्धौर का है जहां बृहस्पतिवार बीती रात कलापुर के हसीब की पुत्री नसीम बानो को प्रसूता का दर्द होने लगा जिस पर आनन-फानन में उन्हें 102 से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिद्धौर लेकर इलाज के लिए आया गया जहां सही सलामत प्रसूता महिला ने बच्चे को जन्म दिया जन्म के थोड़ी देर बाद ही प्रसूता महिला को जोर जोर से दर्द होने लगा

और हालत नाजुक होती चली गई परिजनों का आरोप है कि कई बार डॉक्टर से प्रसूता महिला की हालत के बारे में बताया गया लेकिन डॉक्टरों ने कोई उचित कदम नहीं उठाया जिससे प्रसूता महिला की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंदर ही मौत हो गई। इसी दौरान परिजनों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिद्धौर में सैकड़ों ग्रामीणों के साथ हंगामा काटते हुए डाक्टरों के ऊपर सख्त से सख्त कार्यवाही करने की मांग किया ।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिद्धौर के अधीक्षक डॉ हरप्रीत ने जांच कर उचित कार्रवाई करने की बात करते हुए परिजनों को समझाने बुझाने का कार्य किया लेकिन आक्रोशित प्रसूता महिला के परिजन व ग्रामीणों ने अधिकारी कर्मचारियों की एक न मानी ।

किसान नेता रामबरन वर्मा ने कहा अगर आरोपी डॉक्टरों पर नहीं हुई कार्यवाही तो जल्द ही धरना प्रदर्शन किया जाएगा

किसान नेता रामबरन वर्मा ने मृतिका प्रसूता महिला के पक्ष में आते हुए लापरवाह डॉ व एएनएम के ऊपर कार्यवाही करने की मांग को लेकर डटे रहे जिसको लेकर किसान नेता ने प्रदर्शन करने की भी बात कही आपको बताते चलें कि किसान नेता रामबरन वर्मा ने कहा कि अगर 24 घंटे के अंदर इन आरोपी डॉक्टरों के ऊपर कार्यवाही नहीं की गई

तो 24 घंटे के बाद ही प्रदर्शन किया जाएगा उन्होंने कहा कि अगर प्रदर्शन से भी बात ना बनी तो सड़क जाम करते हुए न्याय की गुहार लगाई जाएगी।

प्रसूता महिला के परिजनों की मांग की छोटे से बच्चे के देखरेख के लिए प्रशासन की तरफ से दिया जाए आर्थिक मदद

इस पूरे मामले को देखते हुए आखिर में यह निष्कर्ष निकला कि प्रसूता महिला के परिजन प्रशासन से आर्थिक मदद की मांग कर रहे हैं जानकारी देते चले कि प्रसूता महिला के परिजनों का साफ तौर पर तो कहना नहीं लेकिन दबी जुबान से यह जरूर कहा जा रहा था कि जो बच्चा मृतिका के द्वारा जन्म दिया गया है उसके देखरेख के लिए कुछ मदद की जाए ।

मृतक प्रसूता महिला की क्या है परिवारिक स्थित:

जानकारी देते चले की प्रसूता महिला नसीम बानो अपने पिता हसीब के यहां रहकर जीवन यापन कर रही थी बताया जाता है कि उसके पति मोहम्मद सलीम जो रायबरेली जिला के इचौली गांव के रहने वाले है मजदूरी कर अपने व अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे थे।

 

 

Comments