बस्ती पैकोलिया पुलिस द्वारा  2405 लीटर अवैध स्प्रीट मिश्रित 

 बस्ती पैकोलिया पुलिस द्वारा  2405 लीटर अवैध स्प्रीट मिश्रित 

जिसकी कीमत लगभग 25 लाख रू0  व अवैध शराब बनाने के उपकरण व अवैध असलहा के साथ मुठभेड़ में चार अभियुक्त गिरफ्तार । पुलिस अधीक्षक बस्ती पंकज  कुमार के निर्देश के क्रम में जनपद बस्ती में अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत

अपर पुलिस अधीक्षक बस्ती पंकज के पर्यवेक्षण मे क्षेत्राधिकारी हर्रैया शिव प्रताप सिंह  के नेतृत्व में थानाध्यक्ष पैकोलिया  संजय कुमार व क्राइम ब्रान्च के सर्विलांस प्रभारी पंकज पाण्डेय की संयुक्त टीम द्वारा मुखवीर सूचना पर  दिनांक 6.10.2019 की रात समय लगभग ग्यारह बजे बृहद ग्राम सलहदीपुर में मुठभेड़ के दौरान 04 अभियुक्त को अवैध शराब,असलहा व शराब बनाने के उपकरण के साथ गिरफ्तार किया 

 गिरफ्तार अभियुक्त का विवरण-

  • धर्मेन्द्र यादव पुत्र रामनरेश यादव सा0 सलहदीपुर थाना पैकोलिया जनपद बस्ती । 
  • मोहित यादव पुत्र राम सुरेश यादव सा0 छपिया थाना पैकोलिया जनपद बस्ती 
  • रामसुरेश यादव पुत्र राम बरन यादव सा0 छपिया थाना पैकोलिया जनपद बस्ती । 
  • रविन्द्र यादव पुत्र राम नरेश यादव सा0 छपिया थाना पैकोलिया जनपद बस्ती ।

बरामदगी का विवरण-

1.37 ड्रम में 2405 लीटर अवैध स्प्रीट मिश्रित ( कीमत लगभग 25 लाख रू0 )

QR कोड कुल सं0 9765

3.4 पैकेट  प्लास्टिक के पन्नी में सील युक्त ढक्कन व खुला पैकेट  सील युक्त संख्या 100 प्लास्टिक  के पन्नी में । 

बन्टी बबली  लिखा हुआ 200ML की लाईम देशी शराब तनु(सादा) अधिकतम फुटकर विक्रय मूल्य रू0 45 लिखा हुआ कुल 63 पेट बोतल ।

5.03 अदद मोबाइल सेट रेडमी वाई 2 (रंग काला),सैमसंग गुरु (रंग सफेद), सैमसंग (रंग काला) ।

6.4050 रू0  कैश (500रू0 के 8 नोट व 50 रू0 का एक नोट)

7.एक पिस्टल .32 बोर कन्ट्री मेड व एक खोखा कारतूस .32 बोर 

8.एक अदद देशी तमंचा .315 बोर व एक  खोखा कारतूस .315 बोर व एक  जिन्दा कारतूस .315 बोर 

9.दो  मोटरसाइकिल 1. हीरो होण्डा सी डी डिलक्स (रंग काला),2.हीरो होण्डा प्लश (रंग काला व लाल)

10.एक महिन्द्रा बोलेरो (रंग सफेद) 

पूछताछ में

अभियुक्त धर्मेन्द्र यादव ने पूछताछ में बताया कि मैं 7-8 साल पहले छावनी क्षेत्र में ढाबा खोला था उसी दौरान मुझे मेरठ व पंजाब के तरफ से स्प्रीट से भरा  टैंकर लेकर ड्राइवर मेरे ढाबे पर आते थे, वही से मेरा सम्पर्क हुआ ।मैं स्प्रीट के माध्यम से नकली अवैध शराब बनाने का कारोबार करने लगा और जब तक ढाबा चला तब तक वही से कारोबार किया ।

फिर मैने ढाबा बन्द कर दिया क्योकि अवैध शराब बनाने के लिए सुरक्षित स्थान व प्रयाप्त समय चाहिए था मैं अपने गाँवो से लगभग 2 कि0मी0 पर सलहदीपुर मौजा में खुद की जमीन पर डेयरी फार्म खोला डेयरी फार्म की आड़ में मैं यह धंधा करने लगा । मेरे इस कारोबार में मेरे परिवार के आलावा अन्य लोग भी सहयोग करते थे । मैं यह शराब होली त्योहार में खपत करने के लिए मैं ज्यादा मात्रा में स्प्रीट रखा था मैने बैंक लोन ले रखा था जिसकी किस्त भरने के लिए मैं इसी धंधे से किस्त भरा करता था ।

मैं यह कार्य आर्थिक व भौतिक लाभ के लिए करता था जिसमें काफी पैसा मिलता था । 

 

          

Comments