बस्ती पुलिस कप्तान ने कहा मीडिया और पब्लिक कठिन से कठिन परिस्थितियों को सम्हाल सकते हैं

बस्ती पुलिस कप्तान ने कहा मीडिया और पब्लिक कठिन से कठिन परिस्थितियों को सम्हाल सकते हैं

बस्ती

पुलिस लाइन   के पुलिस प्रेक्षागृह  में अयोध्या मसले पर संभावित फैसले के दृष्टिगत रखते हुए कहा  फैसले के मद्देनजर मीडिया को ब्रीफ करते हुये पुलिस कप्तान हेमराज मीणा ने कहा कि पुलिस, मीडिया और पब्लिक मिलकर कठिन से कठिन परिस्थितियों को संभाल सकते हैं, बशर्ते तीनों में सामंजस्य रहना चाहिये। फैसले से पूर्व की तैयारियों पर प्रकाश डालते हुये कप्तान ने कहा कि बस्ती से अयोध्या की सीमायें जुड़ती हैं इसलिये शासन ने बस्ती जनपद को ब्लू जोन में रखा है।

इस जनपद से अयोध्या कूच करने वालों तथा बाहर से इस जनपद में आने वालों पर नजर रखी जा रही है। पूरे जिले को 4 जोन में बांटा गया है। एक सुपर जोन, 4 सब कण्ट्रोल और 16 थानों से स्थितियों पर पैनी नजर रहेगी। सोशल मीडिया से लेकर अखबारों, चौपालों और नुक्कड़ों पर बन रहे माहौल की मौनीटरिंग की जायेगी।

कानून व्यवस्था कायम रहे, धार्मिक उन्माद न फैले इसके लिये व्यापारियों, विद्यार्थियों, वकीलों, पत्रकारों, विद्यालयों, दोनो समुदायों से जुड़े लोगों से संवाद स्थापित किया जा रहा है। थानो पर क्यूआरटी सेल बनाये गये हैं, साथ ही पुलिस लाइन में महिला पुरूष के लिये अलग अलग क्यू आर टी सेल बनाये जायेंगे। 1500 लोगों को पाबंद किया गया है, 6500 लोग चिन्हित किये गये हैं।

पुलिस कप्तान ने कहा कि पिछले पांच साल में सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालने के आरोपियों पर भी पुलिस की नजर है। अयोध्या जाने वाले जल, थलमार्ग निगरानी में हैं। जनपद में 30 लोगों की हिस्ट्रीशीट खोली गयी हैं, अस्थायी जेलों के लिये कुछ स्कूल चिन्हित किये गये हैं। अतिरिक्त बल में एसएसबी और पीएसी की एक एक कम्पनियां लगाई जायेंगी।

कप्तान हेमराज मीणा ने कहा कुल मिलाकर किसी भी हाल में शांतिभंग नही होने दी जायेगी, इसके लिये पुलिस बगैर किसी भेदभाव के साथ कार्यवाही करेगी। निशाने पर चाहे जितना प्रभावशाली व्यक्ति क्यों न हो, प्राथमिकताओं में हमेशा शांति व्यवस्था ही रहेगी।

पत्रकार वार्ता के बीच में पहुंचे जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने कहा स्थितियों को कण्ट्रोल करने के लिये पुलिस लाइन में कण्ट्रोल रूम स्थापित होगा जिससे संपर्क करने के लिये एक हेल्पलाइन नम्बर जारी किया जायेगा। यहां राजस्व, चिकित्सा के अधिकारी भी तैनात होंगे। उन्होने जमदाशाही, ओझागंज तथा दरियाखां को सबसे ज्यादा संवेदनशील बताते हुये

यहां हर तरह की सतर्कता बरतने के निर्देश दिये। डीएम ने पत्रकारों के साथ साथ जनपद के जागरूक नागरिकों से अपील किया है कि वे हालात बिगड़ने से पहले ही प्रशासन को सूचित करे जिससे समय रहते उसे नियंत्रित किया जा सके। उन्होने कहा सूचनायें देने वाले के बारे में गोपनीयता बरती जायेगी। इस अवसर पर पत्रकारों ने भी अपनी स्पष्ट राय रखी जिसे डीएम एसपी ने नोट किया और कहा इस पर कार्यवाही प्रचलित है।

Comments