बस्ती छठ पूजा के दिन जहरीली हुई कुआनो नदी घाट पर दिखीं मरी हुई मछलि

बस्ती छठ पूजा के दिन जहरीली हुई कुआनो नदी घाट पर दिखीं मरी हुई मछलि

बस्ती

दरअसल महाछठ के पावन त्योहार के मौके पर बस्ती जिले की कुआनो नदी का पानी जहरीला हो गया है। नदी के पानी में जहर इस कदर बढ़ गया है कि नदियों में मौजूद मछलियों की भी मौत हो गई।

कहा जा रहा है कि बभनान सुगर फैक्ट्री से इस नदी मे लंबे समय से कैमिकल का गंदा पानी छोड़ा जा रहा है। जिसकी वजह से आज ये नदी पूरी तरह जहरीली हो गई है। जिसके चलते अब हजारों की संख्या में से नदी की महिलाओं ने भी दम तोड़ना शुरू कर दिया है

बस्ती: छठ पूजा के दिन जहरीली हुई कुआनो नदी, घाट पर दिखी मरी हुई मछलियां प्रधानमंत्री नरेंद्र की सरकार के दौरान स्वच्छता अभियान काफी चलाया जा रहा है।

इसी तरह नदियों को साफ करने की बाद भी पीएम मोदी हर बार कहते है लेकिन ये अभियान जमीनी स्तर पर कितना सफल हो रहे है इसकी सारी पोल बस्ती की एक नदी ने खोल दी है।

हालांकि इस दौरान ग्रामीणों ने इस मामले में प्रशासन को भी जिम्मेदार ठहराया है। गाववालों का आरोप है कि प्रशासन ने इस मामलों को पहले ही गंभीरता से नहीं लिया। जब उनसे नदी के जहरीले पानी की शिकायत की गई थी। लेकिन अब जब मामला मीडिया ने उछाला है

स्थानिय लोगों के मुताबिक, बभनान सुगर फैक्ट्री का अपशिष्ट केमिकल नदी मे छोडा जाता है जिसके चलते कुआनो नदी का पानी जहरीला हो गया है और बडी संख्या मे मछलियां मर रही है। इतना ही नहीं, कई छोटी मछलियां तो नदी के पानी की गहराई में ही खो गई। लेकिन बड़ी मछलियां वजन के चलते किनारे पर आ गई।

तब जाकर बस्ती के जिलाधिकारी ने इस मामले में एक कमेटी को भेजा। जो अब इस मामले की जांच कर रही है। ये टीम इस मामले में एक रिपोर्ट भी पेश करने वाली है।

जिस पर गांववालों को बिल्कुल भी भरोसा नहीं है। जिसके चलते ये सवाल बना हुआ है कि क्या इस मामले में किसी पर कार्रवाई होगी। या फिर इसे भी शांत कर दिया जाएगा।

Comments