सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में हो रहा मरीजों का शोषण

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में हो रहा मरीजों का शोषण

विक्रमजोत बस्ती

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र विक्रमजोत में आये दिन आने वाले ग्रामीण क्षेत्र के  भोले भाले बीमार जनता व गरीब मरीजों का बाहरी दवा व जांच लिखकर जम कर शोषण किया जा रहा है ।अस्पताल मे ओपीडी मे बैठे डाक्टर जो भी हो आने वाले मरीजों को देखकर भारी बीमारी का हवाला देकर धड़ल्ले से बाहर की दवाओं की पर्ची लिखने का काम करते है जो बाजार में एक ही मेडिकल स्टोर पर मिलती है

जहां से इन्हें अच्छा कमीशन मिल जाता है मरीज की बीमारी ठीक हो या नही इससे इनका कोई मतलव नहीं है ।गुरुवार को क्षेत्र के शंकरपुर निवासी आशीष कुमार अपनी बीमार पत्नी को लेकर इलाज के लिये सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे व वहां पर ओपीडी कर रहीं डा०साजिया खान को दिखाया जिन्हें देख डाक्टर साजिया खान ने गम्भीर मामला बताते हुए बाजार से दवा लेने की पर्ची थमा दी और बताया इनको गम्भीर बीमारी है जिसकी दवा अस्पताल में उपलब्ध नहीं है व दवा बहुत जरुरी है।

आशीष पर्ची लेकर बाजार से दवा लेने गए तो कुछ दुकानदारो ने बताया कि यह कमीशन की जेनरिक दवा है जो केवल एक ही मेडिकल की दुकान पर ही मिलती है।इसी तरह क्षेत्र से आए अब्दुल हकीम व साविर के साथ भी किया गया इन्हें भी जांच व दवा खरीदने के लिए बाजार का रास्ता दिखा दिया गया।जिसे लेकर शंकरपुर निवासी साबिर ने बताया कि जब ही हम लोग अस्पताल जाते हैं तो हम लोगों के साथ ऐसा ही किया जाता है हम बाजार से मंहगी दवा व जांच कराने को मजबूर हो  जाते हैं।

हम गरीब लोगों को डाक्टर द्वारा परेशान किया जाता है।क्षेत्र की किरन देवी , अजय कुमार ने बताया कि बच्चे के इलाज के लिये अस्पताल पर गये थे जहां पर टाइफाइड की जांच बाजार से कराने व मंहगी दवा लेने की पर्ची लिखी गयी ।इस सम्बन्ध में मुख्यचिकित्साधिकारी बस्ती डा ए के गुप्ता का कहना है कि बाहर से जांच व दवा लिखने के मामले में अक्सर शिकायतें मिल रही हैं जिसकी जांच कर आवश्यक कार्यवाही की जायेगी।

Comments