बेटियों के लिए वरदान है कन्या सुमंगला योजना - प्रभारी मंत्री

बेटियों के लिए वरदान है कन्या सुमंगला योजना - प्रभारी मंत्री

अमेठी -

प्रदेश के राज्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण मुस्लिम वक्फ एवं हज एवं जनपद के प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा ने प्रदेश के  मुख्यमंत्री द्वारा लखनऊ में कन्या सुमंगला योजना का शुभारम्भ के उपलक्ष्य में जनपद में भी  35 बेटियों को कन्या सुमंगला योजना के तहत उनको पंजीकरण प्रमाण पत्र प्रदान किया।

इस दौरान उन्होने इस योजना पर बोलते हुए कहा कि प्रदेश में समान लिंगानुपात स्थापित करने व कन्या भ्रूण हत्या को रोकने, बालिकाओ के स्वास्थ्य व शिक्षा को सुदृढ़ करने, बालिका के परिवार को आर्थिक

सहायता प्रदान करने तथा बालिका के प्रति आम जन में सकारात्मक सोच विकसित करने हेतु  मुख्यमंत्री द्वारा मार्च 2019 में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की घोषणा की गई थी। यह योजना 1 अप्रैल 2019 से लागू हो गई थी

योजना के अंतर्गत बालिकाओं के जन्म के समय रुपये 2000-एक वर्ष के बाद टीकाकरण पूर्ण करने पर रुपये 1000/-कक्षा 1 में प्रवेश करने के समय रुपये 2000/-कक्षा 6 में प्रवेश के समय रुपये 2000/-कक्षा 9 में प्रवेश के समय रुपये 3000/-तथा 10वी/-12वी परीक्षा उत्तीर्ण कर डिग्री या दो वर्षीय या अधिक के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने पर रुपये 5000/-एक मुश्त प्रदान किये जाने की व्यवस्था है।

कन्या सुमंगला  योजना के अंतर्गत ऐसे लाभार्थी पात्र होंगे जिनका परिवार उत्तर प्रदेश का निवासी हो, जिनके परिवार की वार्षिक आय अधिक्तम रुपये 3.00 लाख तथा जिनके परिवार में दो बच्चे हो। किसी परिवार की अधिकतम दो बच्चियों को योजना का लाभ प्राप्त हो सकता है। उन्होंने कहा कि निश्चित ही यह योजना बेटियों के लिए बरदान है।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि बेटियां किसी भी क्षेत्र में बेटों से पीछे नही है जरूरत इस बात की है कि बिना भेदभाव के बेटों के समान दर्जा देते हुए बेटियों को भी बिना भेदभाव के शिक्षित बनायें इससे निश्चित ही बेटियां आगे बढेगी और एक नही दो दो घरों में शिक्षा का उजियारा फैलाएगीं।

उन्होंने जनपद वासियों से अपील की कि वे अपने बेटियों को जब शिक्षित करेंगे तो निश्चित ही वे आगे बढकर जिले के साथ साथ गांव और देश का नाम भी रोशन करेंगी। प्रभारी मंत्री ने कहा कि देश और समाज के विकास में शिक्षा की अहम भूमिका है इसलिए हम लोगों की जिम्मेदारी बनती है कि बेटों के साथ साथ बेटियों को भी शिक्षित करें ताकि समाज का चहमुँखी विकास हो सके।

इस अवसर पर जिलाधिकारी श्री प्रशांत शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार बेटियों के उत्थान हेतु प्रतिबद्व है। इसी उद्देशय से इस ऐतिहासिक योजना का सरकार द्वारा शुभारम्भ करके जो बेटियों के माता-पिता को जो धनराशि दी जा रही है इससे निश्चित ही उनके जीवन स्तर में बदलाव आयेगा और वे बिना किसी भेद-भाव के बेटों के तरह ही बेटियों का भी पालन-पोषण कर उन्हें शिक्षित कर उनका भाविष्य संवरेगा।

वहीं जिलाधिकारी ने जोर देते हुए कहा कि बेटियां किसी भी क्षेत्र में बेटों से पीछे नही है जरूरत इस बात की है कि उनके माता पिता/अभिभावक जागरूक हों और बिना भेदभाव के पालन पोषण कर पढाये लिखाएं।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत सरकार ने जो हर बेटियों का शिक्षा दीक्षा देने का वीणा उठाया है इससे निश्चित ही बेटियो और उनके माता पिता/अभिभावको का उत्थान होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में हर पात्र जनोें को इस ऐतिहासिक योजना से जोडा जायेगा ताकि कोई भी पात्र बेटी के माता-पिता इस योजना से अछूते न रह जायें।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के शुभारम्भ  आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने वाले अतिथियों का जिला विकास अधिकारी बंशीधर सरोज ने धन्यवाद ज्ञापित किया। राजधानी से मुख्यमंत्री जी द्वारा कन्या सुमंगला योजना के शुभारंम्भ का सीधा प्रसारण एलईडी वैन/प्रोजेक्टर /टीवी के माध्यम से जिला मुख्यालय/ब्लाक मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में छात्राओं/आंगनबाडी कार्यकत्रियों तथा जन सामान्य को दिखाया गया।

इस अवसर पर सूचना विभाग द्वारा जिला मुख्यालय एंव ब्लाक मुख्यालयों पर जन-कनेक्ट विकास एवं सुशासन के 30 माह नामक बुकलेट का वितरण किया गया। कार्यक्रम का संचालन डा.  रमेश सिंह ने किया। इस अवसर पर उपजिलाधिकारी गौरीगंज अमित कुमार सहित प्रोबेशन एंव सूचना विभाग के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थ्ति रहे।

Comments