गोपीगंज नगर का ऐतिहासिक रामलीला मैदान पूरी तरह हुई जल मग्न, स्थानीय प्रशासन हुआ ख़ामोश

गोपीगंज नगर का ऐतिहासिक रामलीला मैदान पूरी तरह हुई जल मग्न, स्थानीय प्रशासन हुआ ख़ामोश

                 रिपोर्टर - उमेश दुबे

गोपीगंज(भदोही)-

उत्तर प्रदेश के भदोही जनपद मे नगर के कई मोहल्लों में आज भी जलजमाव की स्थिति बनी हुई है जिसके कारण नागरिकों का जीवन नर्क बना हुआ है।

लगातार चार दिनों के बारिश भले ही रुक गई हो लेकिन उसके बाद भी लोगों की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही गोपीगंज नगर के ऐतिहासिक रामलीला मैदान में पिछले दिनों हुई

बारिश से पूरा रामलीला मैदान जलमग्न हो गया परंतु स्थानीय प्रशासन नगर पालिका परिषद की तरफ से कोई कार्यवाही जल निकासी की नहीं की जा रही है इस सम्बंध में अजित सिंह बघेल ने बताया कि पालिका कोई मदद नही कर रही है।

बरसात के पूर्व ही उत्तर प्रदेश शासन एवं जिला प्रशासन ने सख्त निर्देश जारी किए थे कि जहां कहीं भी जलभराव की स्थिति उत्पन्न हो रही हो वहां से लोकल प्रशासन तुरंत ही पानी की निकासी की व्यवस्था करें इसके बावजूद स्थानीय प्रशासन किसी भी मोहल्ले में जाकर के देखने का प्रयास नहीं किया की किस मोहल्ले में पानी लगा और उनकी क्या समस्याएं है।

नगर पालिका प्रशासन कितना निरंकुश है इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि जनपद भदोही के जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट सभागार में नगर पालिका नगर पंचायत के सभी चेयरमैन अधिशासी अधिकारी को सभागार में जलभराव की समस्या पर गंभीरता प्रकट करते हुए सभी निकायों को निर्देश दिया कि ऐसा प्लान करें कि जल्दी से जल्दी पानी की निकासी हो जाए जिससे कि दोबारा ऐसी नौबत ना आने पाए परंतु नगर निकाय अपशिष्ट ठोस प्रबंधन पर खर्च तो करती हैं कागजों पर ।

हकीकत में साफ सफाई नाली नालों की सफाई , जलनिकासी पर ध्यान नहीं देती । जिलाधिकारी भदोही ने सभी अधिशासी अधिकारियों से कहा कि प्रस्तुत किए गए प्रस्ताव के बाद भी जलभराव की समस्या उत्पन्न होंगी तो संबंधितअधिकारी की जिम्मेदारी तय की जाएगी।

Comments