हमारे और कृषि विज्ञान केंद्र भाटपार रानी के विशेषज्ञ डॉक्टर मनोज पांडे की मशरूम की खेती पर विशेष चर्चाl

हमारे और कृषि विज्ञान केंद्र भाटपार रानी के विशेषज्ञ डॉक्टर मनोज पांडे की मशरूम की खेती पर विशेष चर्चाl

हमारी और कृषि विज्ञान केंद्र भाटपार रानी के विशेषज्ञ डॉक्टर मनोज पांडे के द्वारा मशरूम पर एक विशेष चर्चामशरूम एक महा औषधि। मशरूम एक पौष्टिक,

स्वास्थ्यवर्धक एवं औषधीय गुणों से युक्त रोगरोधक सुपाच्य खाध पदार्थ है। चीन के लोग इसे महौषधि एवं रसायन सदृश्य मानते हैं

जो जीवन में अदभुत शकित का संचार करती है। रोम निवासी मशरूम को र्इश्वर का आहार मानते हैं । यह पोषक गुणों से भरपूर शाकाहारी जनसंख्या के लिये महत्वपूर्ण विकल्प है तथा पौष्टिकता की दृष्टि से शाकाहारी एवं मांसाहारी भोजन के बीच का स्थान रखता है।

मशरूम का 21वीं सदी में उत्तम स्वास्थ्य के लिये भोजन में प्रमुख स्थान होगा। चाहे आप वेजिटेरियन हों या फिर नॉन वेजिटेरियन, मशरूम की सब्‍जी हर किसी को खानी पसंद है। मशरूम का सेवन मानव सेहत के लिए रामबाण है। तो फिर आइये जानते हैं इसके गुणों को, औषधीय महत्व को, और पोषकीय महत्व के बारे में- गुण :-

1. प्रतिरक्षा प्रणाली बढा़ए- मशरूम में मौजूद एंटी ऑक्‍सीडेंट हमें भंयकर फ्री रेडिकल्‍स से बचाता है। इसको खाने से शरीर में एंटीवाइरल और अन्‍य प्रोटीन की मात्रा बढती है, जो कि कोशिकाओं को रिपेयर करता है। यह एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक है जो कि माइक्रोबियल और अन्‍य फंगल संक्रमण को ठीक करता है।

2. कैंसर- यह प्रोस्‍टेट और ब्रेस्‍ट कैंसर से बचाता है। इसमें बीटा ग्‍लूकन और कंजुगेट लानोलिक एसिड होता है जो कि एक एंटी कासिजेनिक प्रभाव छोड़ते हैं। यह कैंसर के प्रभाव को कम करते हैं।

3. हृदय रोग- मशरूम में हाइ न्‍यूट्रियंट्स पाये जाते हैं इसलिये ये दिल के लिये अच्‍छे होते हैं। इसमें कुछ तरह के एंजाइम और रेशे पाए जाते हैं जो कि कोलेस्‍ट्रॉल लेवल को कम करते हैं।

4. मधुमेह- मशरूम वह सब कुछ देगा जो मधुमेह रोगी को चाहिये। इसमें विटामिन, मिनरल और फाइबर होता है।

साथ ही इमसें फैट, कार्बोहाइड्रेट और शुगर भी नहीं होत मशरूम के परीक्षण के लिए कृषि विज्ञान केंद्र मलहना भाटपार रानी देवरिया में संपर्क किया जा सकता है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments