भव सागर से मुक्ति के लिए श्री कृष्ण नाम की औसधि लीजिए, व्यास पीठाधीस. 

भव सागर से मुक्ति के लिए श्री कृष्ण नाम की औसधि लीजिए, व्यास पीठाधीस. 

 नरेश गुप्ता/ आनंद तिवारी की रिपोर्ट

भव सागर से मुक्ति के लिए श्री कृष्ण नाम की औसधि लीजिए, व्यास पीठाधीस. 

नैमिषारण्य मिश्रिख

नन्द घर आनंद भयो जय कन्हैया लाल की जय घोष से गूंज उठा पूरा पंडाल, भगवान के प्राकट्य दिवस की कथा मे भक्ति मे झूम उठे श्रद्धालु,  गोविंद की बाललीलाओं के तो सभी देव दीवाने है सभी देव भगवान गोविंद की लीलाओं को देखकर बहुत आनन्दित होते है और बृजवासियों के अहोभाग्य की सराहना करते है कि सबके तारणहार आज कैसे बृजवासियों को अपनी बाललीलाओं से अचरज में डालकर खुद मन्द मन्द मुस्कुरा रहे है, उपरोक्त प्रवचन आज नैमिषारण्य तीर्थ में पुष्टिमार्गीय वल्लभ सत्संग समिति के तत्वावधान में आयोजित छठे ऋषि सत्र 88000 श्रीमद् भागवत पारायण महायज्ञ में व्यासपीठाधीश अनिल कुमार शास्त्री जी ने कथा प्रांगण में बड़ी संख्या में उपस्थित श्रोताओं को सुनाया ,

 इसी श्रंखला मे उत्तर प्रदेश सरकार की राज्य मंत्री श्री मति गुलाब देवी (माध्यमिक शिक्षा विभाग ऊo प्रo ) का आगमन हुआ, व्यासपीठाधीश कहते है कि महर्षि वेदव्यास जी के इस पावन ग्रन्थ में गोविंद के जन्म की रसमयी कथा का अलग ही महत्व है श्री कृष्ण के जन्म की ये कथा ज्ञान से परे है इस कथा में वात्सल्य और प्रेम भाव ही प्रधान है इस कथा को आप तर्क से नही प्रेम से महसूस करे तो गोविंद की छवि का एक अलग ही स्वरूप आप की आंखों में हमेशा के लिए बसकर रह जायेगा जिसका साक्षात अनुभव प्रभु ब्रम्हा और शिव जी को भी भाव विभोर कर देता है आज की कथा में व्यासपीठाधीश ने कंस के कारागार में भगवान श्री कृष्ण के प्राकट्य की पावन कथा सुनाई और वसुदेव देवकी की खुशी का बड़ा ही भावपूर्ण वर्णन किया वहीं वसुदेव जी द्वारा कान्हा को नन्दबाबा के यहां ले जाते समय यमुना जी द्वारा श्री कृष्ण के चरण स्पर्श कर प्रीत भाव को भी सहज भाव मे समझाया आज गोविंद के

जन्मोत्सव पर कथा प्रांगण में बृज धाम जैसा ही नजारा देखने को मिला और सभी भक्त रंग गुलाल की बारिश के बीच बलैया और मंगल गीत गाकर माखन मिश्री बांटते हुए एक दूसरे को कान्हा के जन्म की बधाई देते दिखे , आज के कथा सत्र में व्यास पीठाधीश जी ने श्रीमद भागवत कथा के केवट प्रसंग , शबरी चरित्र , श्री राम राज्याभिषेक , श्री कृष्ण जन्मोत्सव , नन्दोत्सव का बड़ा ही सरस वर्णन कर श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया , वहीं शाम को बृजक्षेत्र की रास मंडली द्वारा प्रसिद्ध रासलीला के मंचन ने सभी को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया आज के भागवत दिवस की पूर्णता पर निदेशक मीडिया प्रदेश शासन दिवाकर खरे , विजय गुप्ता प्रीमियर ट्रांसपोर्ट कम्पनी, बृजेश अवस्थी समेत प्रधान भागवत यजमान राजिंदर कुमार गुप्ता , हेमा विशाल सुखानी , हरेश भाई मेहता ने आचार्यों द्वारा वैदिक मन्त्रोच्चार के मध्य श्रीमद् भागवत महाग्रन्थ व व्यास पीठ का पूजन किया इस अवसर पर व्यास पीठाधीश प्रतिनिधि रंजीत दीक्षित , राम किशोर दीक्षित , संजीव अग्रवाल धर्मेन्द्र श्रीवास्तव  समेत बड़ी संख्या में भक्त उपस्थित रहे ।

Comments