भौती गौशाला में गोवर्धन पूजा का महा उत्सव धूमधाम से मनाया !

भौती गौशाला में गोवर्धन पूजा का महा उत्सव धूमधाम से मनाया !

 

 

 

 कानपुर,

कानपुर गौशाला सोसाइटी के तत्वधान में  भौती शाखा कानपुर गौशाला सोसायटी में गोवर्धन पूजा का महोत्सव बड़े धूमधाम से मनाया गया! गोवर्धन पर्वत को पंचगव्य से मनाया जाता है जिसमें सोसायटी के पदाधिकारी एवं गांव की पुरुष महिलाएं बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाते हैं गांव की तमाम महिलाएं व पुरुष नए वस्त्र को धारण कर गोवर्धन पूजा में हिस्सा लेते हैं गोवर्धन पर्वत पंचगव्य की वर्षों से परंपरा चलती आ रही है सुरेश गुप्ता अध्यक्ष कानपुर गौशाला सोसायटी ने बताया की इस दिन गोधन ताकात पर गाय की पूजा की जाती है हिंदू मान्यता के अनुसार गांव को देवी लक्ष्मी का स्वरूप माना गया है जय देवी लक्ष्मी सुख और समृद्धि प्रदान करती है उसी तरह गौमाता स्वास्थ्य रूपी धन प्रदान करती है मान्यता है कि इसी दिन भगवान कृष्ण ने इंद्र का घमंड व प्रकोप से रक्षा की थी अपनी छोटी सी श्री गोवर्धन पर्वत को उठा कर ब्रिज वासियों को गोवर्धन पर्वत का महत्व बताया था विजय पांडे मंत्री कानपुर गौशाला सोसायटी ने बताया कि एक समय बात है श्री कृष्ण अपने मित्र वालों के साथ पशु चराते हुए गोवर्धन पर्वत जा पहुंचे वहां उन्होंने देखा कि बहुत से लोग उत्सव मना रहे हैं श्रीकृष्ण ने इसका कारण जानना चाहा तो वहां मौजूद गोपियों ने उन्हें बताया कि आज यहां मेघ गोस्वामी इंद्र देव की पूजा होगी और फिर इंद्रदेव प्रसन्न होकर वर्षा करेंगे फल स्वरुप खेतों में अन्य उत्पन्न होगा यह सुनकर श्रीकृष्ण भोले की अधिक शक्तिशाली तो गोवर्धन पर्वत है वर्षा होती है इंग्लिश से गोवर्धन की पूजा करनी चाहिए लोगों ने गोवर्धन पर्वत की पूजा प्रारंभ कर दी थी जिस पर इंद्र क्रोधित हो गए और इंद्र ने मूसलाधार वर्षा प्रारंभ कर दी जिन्हें अपनी चुनरिया में गोवर्धन पर्वत को उठाए रखा और गोगो मारो अपने पशुओं सहित गोवर्धन की तराई में आ गए तब ब्रह्मा इंद्रदेव को बताया कि श्री कृष्ण भगवान विष्णु के अवतार हैं क्षमा याचिका की और तब इंद्र का अहंकार चूर चूर हो गया तब से गोवर्धन पूजा का अन्नकूट का पर्व मनाया जाता है इस अवसर पर सुरेश गुप्ता विजय पांडे संजीव त्रिवेदी राम विवेक सिंह उदय शंकर मिश्रा शिवम त्रिवेदी प्रेम सिंह दिनेश शुक्ला आदि लोग मौजूद रहे!

Comments