तीस हजार की रिश्वत लेते हुए, विधि शाखा लिपिक, निगरानी विभाग द्वारा गिरफ्तार

 तीस हजार की रिश्वत लेते हुए, विधि शाखा लिपिक, निगरानी विभाग द्वारा गिरफ्तार

 

 

 तीस हजार की रिश्वत लेते हुए, विधि शाखा लिपिक, निगरानी विभाग द्वारा गिरफ्तार !

पटना

निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की मुख्यालय टीम के द्वारा आज दिनांक 21-07-2019 को निगरानी कांड सं०31/19 दिनांक 19-07-2019 में संजीव कुमार, विधि शाखा लिपिक, समाहरणालय, बेगूसराय के विधि शाखा के परिसर से रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया ।

परिवादी पिंटू कुमार द्वारा निगरानी अन्वेषण ब्यूरो में शिकायत दर्ज करवाया गया था कि आरोपी संजीव कुमार, लिपिक समाहरणालय, बेगुसराय द्वारा तेघड़ा थाना कांड सं०319/18 में जप्त बोलेरो गाड़ी न० BR09R-0520 जिसे उच्च न्यायालय, पटना द्वारा मुक्त करने का आदेश दिया गया है, उसका कागजात तैयार करने के लिए तीस हजार रुपये रिश्वत की मांग की जा रही है ।

ब्यूरो द्वारा सत्यापन कराया गया एवं सत्यापन के क्रम में आरोपी संजीव कुमार द्वारा 30,000/- रु० रिश्वत मांगे जाने का प्रमाण पाया गया। आरोप सही पाए जाने पर आरोपी संजीव कुमार के विरुद्ध कांड अंकित कर ट्रेप की कार्रवाई हेतु अनुसंधानकर्ता, श्री गोपाल पासवान, पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में एक धावादल का गठन किया गया जिसके द्वारा कार्रवाई करते हुए अभियुक्त संजीव कुमार को 30,000/- रु० रिश्वत लेते समाहरणालय बेगुसराय स्थिति विधि शाखा परिसर से रंगे हाथ गिरप्तार किया गया ।

अभियुक्त को पूछताछ के उपरांत, माननीय विशेष न्यायालय, निगरानी, पटना में उपस्थापित किया जायेगा

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments