मुख्य मंत्री के गृह शहर गोरखपुर में बकरी बेचकर बनवाये गए हैं शौचालय ऐसा गांव जहां 'दलितों के लिए एक भी शौचालय नहीं

मुख्य मंत्री के गृह शहर गोरखपुर में बकरी बेचकर बनवाये गए हैं शौचालय  ऐसा गांव जहां 'दलितों के लिए एक भी शौचालय नहीं

उत्तर प्रदेश 

गोरखपुर :- 

 प्रधानमंत्री देश में स्वच्छता अभियान चला रहे हैं. हर घर में शौचालय बनाने की बात कर रहे हैं। करोड़ो रुपये विज्ञापन पर खर्च किये जा रहे हैं। एक गॉव ऐसा हैं जहाँ दलितों के लिए एक भी शौचालय नहीं है।

वहीँ मुख्य मंत्री के गृह शहर गोरखपुर गुलरिहा थाना क्षेत्र के जंगल डुमरी नम्बर 2 कुटिया टोला गांव,जहा  शौचालय 15 साल पहले बना था इस समय बेहाल हैं गॉव वाले कई बार सिग्रेटरी व् ग्राम प्रधान से शौचालय के लिए कहे लेकिन इन दलितों को कोई पूछने वाला नहीं है  लगभग गॉव में चालीस घर हैं  3 घर केवल शौचालय बना है ओभी बकरी बेचकर,गहन,बेचकर,उधर मांगकर, वही लक्ष्मीना पति राधेश्याम, का कहना हैं कि मैं अपनी बकरी बेचकर अपना शौचालय बनवाया  हूँ ।

झिनकी पति रमेश ,अजोरी पति नेबुलाल ,ये तीन घरों के लोग खुले  में शौच नहीं जाते हैं ,बाकि गॉव के सभी लोगो को खुले में शौच जाना पड़ता हैं,इस गॉव के लोगो का कहना है कि नाली की भी समस्या ज्यादा हैं इस गॉव में नाली जब से बना है तभी से कोई सफाई आज तक  नहीं हुआ है

  नाली के पानी का बहाव ना होने के  कारण अपने अपने नल के पास गड्ढे खोद कर पानी को रोका जाता है। जिससे महीनो भर नल के पास पानी जमा रहता है।कई  बच्चे नल के पानी पिने से बीमार भी हो गए हैं ।

गॉव में इण्डिया मार्का हैण्ड पम्प भी 4 है लेकिन किसी भी हैण्ड पम्प का पानी पीने पिला और बद्गुदार के कारण कोई पिता नहीं हैं

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments