जिला प्रशासन की सूझ बूझ से चुनाव शांति पूर्ण सम्पन्न

 जिला प्रशासन की सूझ बूझ से चुनाव शांति पूर्ण सम्पन्न

 

फतेहपुर स्वतंत्र प्रभात

आज फतेहपुर लोकसभा सीट 49 के लिए पूरे जिले में मतदान चल रहा है सुबह मतदान की रफ्तार कुछ तेज देखी गई लेकिन दोपहर होते-होते सूर्य देव की तपिश से ज्यादातर मतदान केंद्रों में इक्का दुक्का वोटर ही देखे गए

आज फतेहपुर की आवाम ने अपना जनादेश ईवीएम में बंद कर दिया इस सीट पर त्रिकोणीय संघर्ष है जिसमें मुख्य रूप से साध्वी निरंजन ज्योति भाजपा से तो सुखदेव वर्मा गठबंधन से और राकेश सचान ने सपा से बागी होकर कांग्रेस के टिकट पर ताल ठोका है

 

इस बार प्रत्याशियों एवं स्टार प्रचारकों ने जहां सभी मानवीय सीमाओं को लांग कर रख दिया वहीं चौकीदार चोर है राफेल मुद्दे जीएसटी नोटबंदी के मुद्दों को उठाकर विपक्ष ने हाय तौबा मचा रखा था जिसके कारण कांग्रेस को तो सर्वोच्च न्यायालय का कोप भाजन भी बनना पड़ा तो वहीं पर भाजपा ने भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ रखा इस चुनाव में जवाहरलाल नेहरू इंदिरा गांधी राजीव गांधी सोते हुए कांग्रेस की नीतियों एवं कांग्रेस के शासनकाल में हुए घोटालों एवं भ्रष्टाचार को भी उजागर करने में कोई कोताही नहीं बरती गई

तो ममता बनर्जी के भ्रष्टाचार को भी बेबाकी के साथ उछाला गया यहां तक कि ममता के खास सेवा सलाहकार कोलकाता के पुलिस कमिश्नर भी इस आंधी से अछूते नहीं रहे इन सब बातों के मध्य वोटर ने इन किसी भी मुद्दों को ध्यान ना देते हुए मात्र देश की सुरक्षा,देश का विकास,देश विरोधी तत्वों से दो-दो हाथ करने वालों को जनता ने मुद्दा बनाते हुए मतदान किया है

पांचवें चरण के आज संपन्न हो रहे मतदान के लिए जिला प्रशासन ने मजबूत व्यवस्था कर रखा था लोकसभा की 49 फतेहपुर सीट के लिए  1833716 वोटरों के लिए विज्ञान भवन से  2045 पोलिंग पार्टियों को आवश्यक सामग्री ओम वोटिंग मशीन कीपैड के साथ रवाना किया गया इसी कड़ी में जिले में सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरीके से चाक-चौबंद रहे इसके लिए मजिस्ट्रेट जोनल मजिस्ट्रेट इत्यादि की व्यवस्था की गई थी जो की बराबर दौड़ भाग कर रहे थे

और जलती ताप्ती दोपहरी में भी स्थित पर नियंत्रण रखते हुए देखे गए वैसे तो कुल मिलाकर स्तिथि सामान्य रही जहानाबाद के नेशनल हायर सेकेंडरी स्कूल में भाग संख्या 157 कमरा नंबर 3 में एवं प्राइमरी स्कूल कोड़े में भाग संख्या 149  कमरा नंबर 3 में कुछ तकनीकी खराबी की वजह से वोटिंग 25 मिनट देर से शुरू हो सकी इसी प्रकार कई अन्य स्थानों पर भी तकनीकी खराबी के कारण वोट आधे घंटे से लेकर डेढ़ घंटे तक विलंब से शुरू हुआ

बहुत से लोग पोलिंग स्टेशनों से इसलिए मायूस होकर लौट गए की वोटर लिस्ट में उनका नाम कट गया था ऐसे लोग भारी मात्रा में देखे गए दिव्यांग जनों के लिए प्रशासन ने विशेष व्यवस्था कर रखा था एक महिला एवं एक पुरुष दिव्यांग मित्र की तैनाती की गई थी जो दिव्यांगों के लिए सहायक सिद्ध हुए फतेहपुर में तो कई दिव्यांगों को स्वयं जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी संजीव सिंह ने मतदान केंद्र तक पहुंचाया ऐसी व्यवस्था इसलिए की गई थी कि दिव्यांगों का वोट 100% सुनिश्चित किया जा सके लोकतंत्र के इस विशेष पर्व का आकर्षण पहली बार मतदान कर रहे युवा वोटर रहे  जिनमें  काफी उत्सुकता देखी गई इन वोटरों की संख्या  फतेहपुर सदर में  3317 रही

  तो खागा में 3277 रही फतेहपुर सदर में 3317 आया सामने 3932 हुसैनगंज में 3333 नींद की में 1009  तो जहानाबाद विधानसभा क्षेत्र 2542 में पहली बार वोट करने वाले नए वोटर जोड़े गए नए वोटरों में सबसे बड़ी संख्या आयाह शाह से तो सबसे कम बिंदकी से रही वहीं कुछ बूथ पर वोट डालना बहुत कष्टदाई रहा जैसे कि विधानसभा जहानाबाद के कृपालपुर के मजरे जवाहरपुर,भैरमपुर ,बिंदा के ग्रामीण आज भी कृपालपुर में बने प्राथमिक मतदान केंद्र बूथ संख्या 79 में रिंद नदी को पार करके वोट डालने जाते हैं जो कि इस तपती दुपहरी में कष्ट दायक के अलावा जोखिम भरा भी था ग्रामीणों ने बताया कि कई बार सांसद और अधिकारियों से कहने के बाद भी गांव में कोई प्राइमरी पाठशाला तक नहीं है जिसको की मत देय स्थल बनाया जा सके जबकि उक्त मजरे में 1500 से अधिक वोटर हैं और यहां पर पोलिंग बूथ होना चाहिए चुनाव को निष्पक्ष और स्वतंत्र कराने के लिए पूरे जिले को 12 जोनों में एवं 141 सेक्टरों में बांटा गया था सभी मतदान कर्मी अपने कार्य को सुचारु रूप से संपादित कर सके इसके लिए उन्हें पर्याप्त एवं कड़ा प्रशिक्षण दिया गया था ईवीएम मशीनों की उपलब्धता भी पर्याप्त से अधिक मात्रा में कराई गई थी ताकि खराब होने की स्थिति में अफरा-तफरी का माहौल न पैदा हो सके और उन्हें तुरंत बदला जा सके पूरे लोकसभा क्षेत्र में जहां 206 माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात किए गए थे जो कि 192 बूथों का सफल निरीक्षण एवं संचालन कर रहे थे तो वहीं विधानसभा वार वेबकास्टिंग की भी व्यवस्था की गई थी प्रत्येक विधानसभा में अच्छे-अच्छे आदर्श बूथ की स्थापना के साथ पूरे जिले में 90 आदर्श बूथों की स्थापना की गई थी सेल्फी लेने की भी व्यवस्था बनाई गई थी 373 मतदान केंद्रों में 45 देशों के द्वारा मतदान कराया इसमें 135 संवेदनशील बूथ थे जिनमें जिला प्रशासन ने खास निगाह बनाए रखा ताकि कोई अव्यवस्था ना हो सके इसके अलावा सेक्टर नोडल स्टैटिक एवं फ्लाइंग स्क्वायड तथा वीडियो निगरानी टीमों ने भी अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन किया छोटी-छोटी नोकझोंक को छोड़कर मतदान पूर्णता शांतिपूर्ण रहा।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments