सुगौली प्रखंड के माली पंचायत में एक दूसरे वार्डों में ही किया जा रहा है शौतेला व्यवहार

सुगौली प्रखंड के माली पंचायत में एक दूसरे वार्डों में ही किया जा रहा है शौतेला व्यवहार
  • नही दिया गया कुछ वार्डों में बाढ़ छतिग्रस्त की राशी 
  • लाभुकों को राशी नही मिलने पर किया स्थानिक बिधायक का पुतला दहन

मोतिहारी (बिहार)

सुगौली बाढ़ पीड़ितों की सूची से वंचित करने से माली पंचायत के डुमरी में ग्रामीणों ने शुक्रवार को विधायक का पुतला दहन किया और जमकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। ग्रामीण हिरामन सहनी, विजय ठाकुर,देवकिशुन सहनी, दिनेश सहनी, छोटेलाल सहनी, राजकुमार,भगीरथ सहनी, उमेश,विजय सहनी,शिवनाथ सहनी,अभय सहनी, बृजकिशोर सहनी,दिनेश सहनी सहित कई लोगों ने बताया कि माली पंचायत के सभी वार्डो में दो बार बाढ़ आया और कई लोग घर बार छोड़कर बांध पर शरण लिए व कितने लोगों का घर क्षतिग्रस्त हो गया। 

बाढ़ आने से घर मे रखी सारी सामग्री खत्म हो गई और फसल भी बर्बाद हो गया। स्थानीय विधायक व अधिकारी लोग आकर निरीक्षण भी किया,लेकिन पंचायत के वार्ड नं0 2,3,4,5,6व 7 के लोगो को बाढ़ पीड़ित सूची से नाम हटा दिया गया है।जिससे इस सभी 6 वार्ड के बाढ़ पीड़ित को वंचित कर दिया गया। अधिकारियों के मनमानी के चलते गरीबो को उसके हक से वंचित किया जा रहा है।

मुखिया महेश सहनी ने बताया कि पूरा पंचायत बाढ़ के चपेट में था और दो बार बाढ़ का दंश पूरे पंचायतवासियों को झेलना पड़ा। अनुश्रवण समिति की बैठक में पूरे पंचायत को बाढ़ ग्रस्त घोषित किया गया और पंचायत में 1931 परिवार को चिन्हित किया गया।लेकिन स्थानीय प्रशासन के अनदेखी व मनमानी के चलते शीतलपुर,डुमरी व माली गांव के 6 वार्डो को वंचित कर दिया गया। जिसकी सूचना वरीय अधिकारी को दी गई है।

Comments