चुनाव जीतने पर मिथिला विकास बोर्ड का किया जाएगा स्थापना : अब्दुलबारी सिद्दिकी

चुनाव जीतने पर मिथिला विकास बोर्ड का किया जाएगा स्थापना : अब्दुलबारी सिद्दिकी

दरभंगा:

लोकसभा के राजद प्रत्याशी अब्दुलबारी सिद्दिकी ने आज यहाँ कहा कि इस बार दो विचारधाराओं के बीच चुनाव है। एक विचारधारा में वैसे लोग हैं, जो कहते हैं कि देश उनकी ही बपौती हैं। जबकि दूसरी धारा में वैसे लोग हैं, जिनका कहना है कि देश सबों की बपौती है।

 सिद्दिकी आज स्थानीय एक होटल में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने दरभंगा का विकास मेरी प्रतिबद्धता नाम से अपना विजन जारी किया। वैसे तो उनका मुख्य उद्देश्य विजन जारी करना था, क्योंकि पहली बार किसी प्रत्याशी ने विजन जारी किया है,

लेकिन इस अवसर पर पत्रकारों के चुभते सवाल पर वे कुछ असहज भी दिखे और कुछ सवालों का वे जबाव नहीं देते हुए कहा कि इस पर निर्णय नेतृत्व ले सकता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा यह कहने पर कि कुछ लोगों को भारत माता की जय बोलने में कठिनाई हो रही है। जिस पर पलटवार करते हुए श्री सिद्दिकी ने कहा कि भारत माता की जय बोलने में किसी कोई परहेज नहीं है। वे लोगों को प्रवोक करना चाहते हैं। फर्क सिर्फ इतना है कि धर्म विशेष के लोग वंदेमातरम् नहीं बोलना चाहते।

चूँआकि यह उनके धर्म से जुड़ा हुआ है। श्री सिद्दिकी ने आतंकवाद पर मोदी की टिप्पणी का जवाब देते हुए कहा कि देश का पहला आतंकवादी नाथुराम गोडसे था। जिसने महात्मा गांधी की हत्या की। अगर मोदी में हिम्मत है, तो वे गोडसे की आलोचना करके दिखावें। पत्रकारों द्वारा यह पूछे जाने पर कि फातमी को पार्टी विरोधी कार्य के लिए 6 साल के लिए निष्कासित किया गया है, तो फिर तेज प्रताप अधिकृत प्रत्याशी के विरूद्ध प्रचार कर रहे हैं, तो यह कदम उचित है या नहीं, 

फिर उचित नहीं है, तो उन पर कारवाई होनी चाहिए या नहीं? जवाब में सिद्दिकी ने कहा कि व्यक्ति से दल का नुकसान नहीं होगा। कई बार व्यक्तियों ने दल को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की, लेकिन राजद और मजबूती से उभर गया। जहां तक तेज प्रताप की बात है, तो इसका निर्णय नेतृत्व करेगा। अपने चुनावी विजन को उन्होंने सात खंडों में बांटा है। जिसमें दरभंगा में एम्स की स्थापना, मिथिला विकास बोर्ड की स्थापना, कृषि उत्पाद आधारित खाद्य प्रसंसकरण उद्योग प्रोत्साहन जोन के गठन सभी गांवों में बाढ़रोधी पक्की सड़क,

पूर्व घोषित रेल परियोजनाओं के लिए जमीनी कारवाई खेती और किसानी की समस्या, रोजगार, आजीविका, शिक्षा के साथ-साथ मिथिला कला के प्रोत्साहन-सम्बर्द्धन के लिए राष्ट्रीय डिजाईन संस्थान और राष्ट्रीय फैशन तकनीकी संस्थान के स्थापना आदि शामिल है।

संवाददाता सम्मेलन में अवकाश प्राप्त अनुमंडल पदाधिकारी रघुनाथ प्रसाद, पूर्व मेयर ओमप्रकाश खेड़िया, राजद जिलाध्यक्ष राम नरेश यादव और राजद के वरिष्ठ नेता उमेश राय भी मौजूद थे।

Comments