धनतेरस के अवसर पर भाजपा सांसद अरुण सागर ने चेक वितरित कर किया सुमंगला योजना का शुभारंभ

धनतेरस के अवसर पर भाजपा सांसद अरुण सागर ने चेक वितरित कर किया सुमंगला योजना का शुभारंभ

शाहजहांपुर -

धनतेरस के  पर्व पर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी द्वारा कन्या सुमंगला योजना का शुभारम्भ लोक भवन सभागार से किया गया। जिसका सीधा प्रसारण जनपद में गाँधी भवन प्रेक्षागृह में एल0ई0डी0 के माध्यम से तथा ब्लाॅक स्तर पर टी0वी0 के माध्यम से  प्रसारण देखा गया।
प्रदेश के मुख्यमंत्री जी द्वारा कन्या सुमंगला योजना का शुभारम्भ करने के उपरान्त जनपद में  भाजपा सांसद  अरूण कुमार सागर के हाथों से प्रथम श्रेणी की कन्या प्रियंका देवी एवं कृतिका मिश्रा को 2 हजार रूपये का संकेतिक चेक तथा द्वितीय श्रेणी की बालिका आरोही एवं लक्ष्मी को एक हजार रूपये का संकेतिक चेक एवं तृतीय श्रेणी की लड़कियों में पारूल यादव, अलिना फातिमा को  तीन-तीन हजार रूपये का संकेतिक चेक, पंचम श्रेणी की कन्याओं में रिचा त्रिपाठी, गमिनी को 3 हजार रूपये का संकेतिक चेक तथा सष्ठम श्रेणी की किशोरी बालिकाओं में दीक्षा सक्सेना, राशि मिश्रा, मुस्कान को 5 हजार रूपये का संकेतिक चेक दिये जाने के साथ ही कार्यक्रम में लगभग 7 सौ कन्याओं को कन्या सुमंगला योजना के अन्तर्गत संकेतिक चेक वितरण किये जाने के साथ ही ब्लाॅक स्तर पर भी पात्र लाभार्थियों को संकेतिक चेक वितरित किये गये।
इस मौके पर  सांसद  अरूण कुमार सागर ने अपने सम्बोधन में कहा कि प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ जी ने धनतेरस के पावन पर्व पर लक्ष्मियों के घर में लक्ष्मी देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि कन्या सुमंगला योजना के शुभारम्भ हो जाने से अब गरीब वर्ग के परिवारों की लड़कियाँ अशिक्षित नहीं रहेंगी, क्योंकि  मुख्यमंत्री जी ने कन्या सुमंगला योजना का शुभारम्भ कर दिया है। कन्या सुमंगला योजना के आरम्भ हो जाने से लड़कियों में शिक्षा का स्तर बढ़ेगा और कोई भी माँ-बाप धन के अभाव में लड़कियों को शिक्षा दिलाने से वंचित नहीं रखेगा।
जिला पंचायत अध्यक्ष  अजय प्रताप सिंह यादव एवं विधायक  चेतराम वर्मा, विधायक  रोशन लाल वर्मा, विधायक मानवेन्द्र सिंह ने कन्या सुमंगला योजना के सम्बन्ध में अपने विचार व्यक्त किये।   इस मौके पर
जिलाधिकारी  इन्द्र विक्रम सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि सरकार की मंशा है कि बालिकाओं एवं महिलाओं को इतना अधिक सशक्त बना दिया जाये कि वह स्वयं आत्म निर्भर बन सकें और महिलाओं के प्रति सोंच में प्रभावी ढंग से सामाजिक परिवर्तन आये। शासन की इस पुनीत मंशा को शत-प्रतिषत सफलता के पायदान तक पहुँचाना हमारा दायित्व ही नहीं अपितु कर्तव्य भी है।
सिंह ने कहा पात्रों का शत-प्रतिषत पंजीकरण कराकर योजना का लाभ दिया जाये, तथा शासन की मंशा अनुरूप बालिकाओं एवं महिलाओं के स्वास्थ्य एवं शिक्षा को सुदृढ़ किया जाए।

कन्या भ्रूण हत्या को समाप्त किया जाए,  समान लिंगानुपात स्थापित किया जाये, बाल विवाह की कुप्रथा को रोका जाए, नवजात कन्या के परिवार की आर्थिक सहायता प्रदान की जाए तथा बालिका के जन्म के प्रति जनमानस में सकारात्मक सोच विकसित कर उनके उज्जवल भविष्य की आधारशिला रखी जाए।
जिलाधिकारी ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा लाॅन्च की गयी कन्या सुमंगला योजना के अन्तर्गत बालिका के जन्म के होने पर रू0 2000 बालिका के एक वर्ष तक के पूर्ण टीकाकरण के उपरान्त रू0 1000 कक्षा 01 में बालिका के प्रवेश के उपरान्त रू0 2000 कक्षा 06 में बालिका के प्रवेश के उपरान्त रू0 2000 कक्षा-09 में बालिका के प्रवेश उपरान्त रू0 3000 तथा ऐसी बालिकायें जिन्होंने कक्षा-12 वीं उत्तीर्ण करके स्नातक अथवा 02 वर्षीय या अधिक अवधि के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लिया हो, को रू0 5000 की सहायता प्रदान की जायेगी।

पात्रता की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि लाभार्थी का परिवार उत्तर प्रदेश निवासी हो, परिवार की वार्षिक आय 03 लाख तक हो, परिवार की अधिकतम 02 ही बच्चियों को योजना का लाभ मिल सकेगा। जिलाधिकारी ने जनसामान्य से अपील की है कि कन्या सुमंगला योजना हेतु पात्रों का ब्लाॅक, बी0आर0सी0 व न्याय पंचायत स्पर पर उपलब्ध आवेदन सुविधा का लाभ उठाते हुए अथवा वेबसाइड आॅनलाइन आवेदन कराकर महिलाओं एवं बालिकाओं के सशक्तिकरण अभियान में योगदान दें।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक डाॅ0 शिवा सिम्मी चनप्पा, मुख्य विकास अधिकारी  महेन्द्र सिंह तंवर, अपर जिलाधिकारी (प्रशासन)  रामसेवक द्विवेदी, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 आर0पी0रावत, जिला कार्यक्रम अधिकारी  ज्योति शाक्य सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे

Comments