जनपद के प्रत्येक ब्लॉक में आयोजित होगा किसान मेला

 जनपद के प्रत्येक ब्लॉक में आयोजित होगा किसान मेला

‌समस्त विकास समस्त विकास खण्डों में  15 नवम्बर से 29 नवम्बर तक निवेश मेले का आयोजन।

‌ 

‌मेले का उद्देश्य सही कीमत एवं  कृषि सम्बन्धी निवेशों एवं तकनीक को उपलब्ध कराना।

‌मुख्य विकास अधिकारी  प्रेम रंजन सिंह ने बताया है कि कृषि सूचना तंत्र के सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरुकता कार्यक्रम योजनान्तर्गत विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला के आयोजन के सम्बन्ध मे दिये गये दिशा निर्देशो के अनुसार मेला का मुख्य उददेश्य कृषकों को उचित समय पर उचित कीमत एवं उचित स्थान पर कृषि सम्बन्धी निवेशों एवं तकनीक को उपलब्ध कराया जाना है। किसान को लाभकारी योजनाओं की जानकारी उपलब्ध होने पर वह नवीन तकनीक के साथ संतुलित उवर्रक, कृषि यन्त्र एवं अन्य कृषि निवेशों का प्रयोग कर सकता है, जिसके फलस्वरूप कृषको की आय एवं उत्पादकता में वृद्धि होगी। निर्धारित तिथि एवं स्थल पर विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला का आयोजन कराया जाना है।

विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला के प्रबन्ध एवं व्यवस्था हेतु सम्बन्धित उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकारी पूर्ण रुप से उत्तरदायी होगें तथा अनिवार्य रूप से समस्त मेलो में उपस्थित रहेंगे। विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला के लिये नामित नोडल अधिकारी मेला में उपस्थित रहकर अपनी देख रेख में दे समस्त आयोजन कराएं जिसके लिये नोडल अधिकारी उत्तरदायी होंगे। विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला मे कृषकों की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने हेतु उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकारी जिम्मेदार होगे। मेले का  आयोजन दिनांक 15 नवम्बर, 2019 से 29 नवम्बर, 2019 के मध्य जनपद के समस्त विकास खण्डों के विकास खण्ड कार्यालय परिसर में आयोजित किया जायेगा।


‌मेले का उद्घाटन क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों मन्त्री,  सांसद,  विधायक,  विधान परिषद सदस्य एवं  ब्लाक प्रमुख से कराया जाय। मेलो में समस्त ग्राम प्रधानो को अनिवार्य रूप से आमंत्रित किया जाए। विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला में कृषि विभाग, सहकारिता, एग्रो, पशुपालन, ग्राम्य विकास, उद्यान, वन, पंचायती राज, मण्डी समिति, वैकल्पिक उर्जा, सिंचाई, नलकूप, विद्युत, न्याय, मत्स्य, खादी ग्रामोद्योग, अल्प बचत. उ0प्र0 बीज विकास निगम, इफ्को एवं बैंक/अग्रणी बैंक के द्वारा अपने-अपने विभागीय स्टाल लगाये जायेगे एवं अपने से सम्बन्धित सामग्री/उपकरणों को कृषकों को प्रदर्शन एवं बिक्री हेतु उपलब्ध करायेंगे। मेला में उन्नतशील बीज, कृषि रक्षा उपकरण एवं कृषि यंत्र आदि पर विभागीय योजना में देय अनुदान की सीमा तक निर्धारित लक्ष्यों के अनुरूप छूट किसानों को उपलब्ध करायी जाय। विभिन्न विभाग निःशुल्क उपलब्ध कराये जाने वाले कृषि


‌निवेशों का वितरण भी इन्हीं कृषि निवेश मेलो में करेंगे ताकि किसानों को अनुदान का सीधा लाभ इन मेलो के माध्यम से प्राप्त हो सके।
‌ विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला में कृषि निवेशो की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाए तथा यह भी सुनिश्चित किया जाय कि कृषि निवेश अनुदान व सस्ते मूल्य पर उपलब्ध हो और उनकी गुणवत्ता मानक स्तर की हो। कृषको के द्वारा क्रय की गई सामग्रियों की रसीद उन्हें अवश्य उपलब्ध कराई जाए। विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला का व्यापक प्रचार-प्रसार समाचार पत्रों के माध्यम से कराया जाय एवं कृषि निवेश मेलो के आयोजन की सूची प्रत्येक विकास खण्ड पर रखी जाए। विकारा खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला में कृषि विश्वविद्यालय, कृषि विज्ञान केन्द्र, इफ्को, कृभको, इण्डोगल्फ आदि उर्वरक निर्माता कम्पनियों के कृषि वैज्ञानिक/प्रतिनिधि, विषेषज्ञ के रूप में उपस्थित रहेंगें। उर्वरक कम्पनियो, बीज उत्पादक कम्पनियो, कृषि रक्षा रसायन उत्पादक
‌एक, कृषि विज्ञान केन्द्र तथा कृषि से सम्बन्धित समस्त विभाग अपना स्टाल लगायेंगे एवं
‌एक पंजिका भी रखेंगे जिसमे कृषकों द्वारा अपने सुझाव अंकित किये जायेंगे।


‌फसल अवशेष को जलाने से रोकने एवं फसल अवशेष का उपयोग करने तथा इस सम्बन्ध मे राष्ट्रीय हरित अधिक कृषको को परिचित कराया जाए। विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत आकस्मिक
‌क्षतिपूर्ति हेतु एक व्याखायन रखा जाए, जिसमे ऋणी एव गैर ऋणी कृषकों को इसके विषय मे
‌विस्तृत जानकारी दी जाए। कृषि निवेश मेला में कृषि से सम्बन्धित सहयोगी विभागों के जनपद स्तरीय अधिकारी अनिवार्य रूप से भाग लेंगे। विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला में यू०पी एग्रो, बीज विकास निगम, कृषि उपकरण बनाने वाली कम्पनियाँ, स्प्रिंकलर/ड्रिप सिंचाई/सोलर पम्प कम्पनियाँ भी अपने स्टाल लगायेगी। विकास खण्ड स्तरीय कृषि निवेश मेला में विकास खण्ड के आत्मा समूह, एन0जी0ओ0 तथा कृषि से सम्बन्धित अन्य कम्पनियाँ अपने उत्पादों का स्टाल लगायेगे।


‌मेलो में कृषि विभाग द्वारा चलाई जा रही आत्मा योजनान्तर्गत फार्म स्कूलो के अचीवर कृषकों की सहभागिता सुनिश्चित किया जाए ताकि वे मेले में अपने अनुभवो को अन्य कृषकों के साथ बांट सके। मेला में कृषकों द्वारा उठाये गए प्रश्नों तथा उनको दिये गए उत्तरों का संकलन किया जाए, मेलों में समस्त विभागों के जनपद स्तरीय अधिकारी एवं विषय विशेषज्ञ पहुंचकर जानकारी देंगे। 

‌प्रयागराज से दयाशंकर त्रिपाठीकी रिपोर्ट में  15 नवम्बर से 29 नवम्बर तक निवेश मेले का आयोजन।

 

प्रयागराज से दयाशंकर त्रिपाठीकी रिपोर्ट

Comments