सरस्वती विद्या मंदिर ने धूमधाम से मनाया जन्माष्टमी का त्यौहार

  सरस्वती विद्या मंदिर ने धूमधाम से मनाया जन्माष्टमी का त्यौहार

बद्दी(पंकज गोल्डी) !   श्रीकृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी का पूरे भारत वर्ष में बडी धूमधाम से मनाया जाता है। हिन्‍दुओं के प्रमुख त्‍योहारों में से एक है। ऐसा माना जाता है कि सृष्टि के पालनहार श्री हरि विष्‍णु ने श्रीकृष्‍ण के रूप में आठवां अवतार लिया था। देश के सभी राज्‍य अलग-अलग तरीके से इस महापर्व को मनाते हैं। यही महापर्व आज सरस्वती विद्या मंदिर उच्च विद्यालय बद्दी में भी मनाया गया ।

इस मौके पर विद्यालय की छात्रों एवम् अध्यापकों द्वारा बद्दी में भगवान् श्री कृष्‍ण की महिमा का गुणगान करते हुए झांकी निकाली गयी और उसके बाद विद्यालय में कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें छात्रों के द्वारा श्री कृष्ण से संबधित कार्यक्रम प्रस्तुत किया । सर्वप्रथम सरस्वती वंदना हुई उसके पश्चात राधा तेरी चुनरी, मैया यशोदा, राधा नाचेगी, श्याम बुलाये राधा नहीं आवे, राधे राधे, शाम दे नाल अज मैनो नाच लैण दे और अंत में विद्यालय के छात्रों के द्वारा श्री कृष्ण के जीवन को नाटक का मंचन किया गया सबसे अंत में विद्यालय में संस्कृत भाषा के प्रचार प्रसार हेतु संस्कृत प्रदर्शनी लगाई गयी जिसका मुख्य उद्देश्य संस्कृत भाषा को आमजन भाषा के तौर पर विख्यात करना है

विद्यालय के प्रधानाचार्य गणेश दत्त शर्मा के कहा की संस्कृत भाषा विश्व की सबसे पुरानी भाषा हमें इसके प्रचार प्रसार का हर संभव प्रयास करना चाहिए प्रधानाचार्य गणेश दत्त शर्मा, रमा वर्मा, कृष्ण लाल, कुमारी माला, राजेश कुमारी, हेमा देवी, शालू ठाकुर, भावना शर्मा, बरखा गोला, बिमला वर्मा, संतोष गुप्ता, सुनीता सेमवाल, रुचिका शर्मा, ऋतू बाला, कुसुम लता, बन्दना शर्मा, एवं विद्यालय के समस्त छात्र व् छात्राएं भी उपस्थित रही।

Comments