कांग्रेश की न्याय पदयात्रा  पर  पुलिस प्रशासन ने फेरा पानी   पुलिस की कड़ी चौकसी के बीच तमाम कांग्रेसी हुए गिरफ्तार

कांग्रेश की न्याय पदयात्रा  पर  पुलिस प्रशासन ने फेरा पानी   पुलिस की कड़ी चौकसी के बीच तमाम कांग्रेसी हुए गिरफ्तार



जितिन प्रसाद सहित  कई नेता किए गए नजरबंद आवास पर भारी पुलिस फोर्स तैनात


शाहजहांपुर :-

चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा को जेल भेजे जाने को लेकर नाराज चल रही कांग्रेश ने चिन्मयानंद प्रकरण को एक बड़ा मुद्दा बनाकर भुनाने का प्रयास किया है सोमवार से  शाहजहांपुर जिले से न्याय यात्रा निकाली जानी थी

जिसको लेकर पूरे जिले में सुबह से ही अफरा-तफरी मची रही यात्रा निकालने जा रही कांग्रेस के सामने विकट परिस्थितियां खड़ी हो गई, क्योंकि प्रशासन ने न्याय यात्रा निकालने की अनुमति देने से धारा 144 का  लागू होना बताकर इनकार कर दिया  था। न्याय यात्रा की अनुमति न दिए जाने के बाद भी कांग्रेसियों के उग्र रुख को देखते हुए जिला प्रशासन ने जबरदस्त मोर्चाबंदी  कर रखी थी

यहां तक जितिन प्रसाद  जैसे मुख्य नेताओं को सुबह से ही नजर बंद कर उनके आवास पर काफी पीएसी पुलिस बल तैनात कर दिया गया था    स्वामी चिन्मयानंद केस को लेकर कानून व्यवस्था पर प्रहार करने के उद्देश्य न्याय यात्रा निकालने पर अड़े पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद को उनकी कोठी पर नजरबंद कर दिया गया।

साथ ही चिन्मयानंद केस में न्याय यात्रा निकालने के लिए आए कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर और पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रभारी अजय कुमार लल्लू सही तमाम कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया  उन्हें और अन्य कार्यकर्ताओं को पुलिस लाइन में रखा गया है। कांग्रेस की न्याय यात्रा को देखते हुए शाहजहांपुर में टाउन हॉल स्थित कांग्रेस दफ्तर के चारों तरफ बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। बैरिकेडिंग की गई है। साथ ही हर आने-जाने वाले व्यक्ति पर  कड़ी नजर रखी गई ।

कई थाने की फोर्स तैनात की गई है। साथ ही पीएसी को भी लगाया गया है। महिला पुलिस बल भी लगा रहा जो शाम तक अपने अपने मोर्चे पर तैनात था
शाहजहांपुर। चिन्मयानंद यौन शोषण प्रकरण में जेल में बंद छात्रा को लेकर  उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था को बड़ा मुद्दा बनाकर अपना कद बढ़ाने की  तैयारी में प्रियंका गांधी के  दिशा निर्देशन में  निकाले जाने वाली  न्याय पदयात्रा के लिए कांग्रेस पदाधिकारी इस बात पर अड़े हैं कि आयोजन करेंगे

क्योंकि उन्होंने पहले ही अनुमति के लिए आवेदन कर दिया था। तय कार्यक्रम के अनुसार 30 सितंबर सोमवार को पूर्वाह्न दस बजे शहीद स्मारक, जिला कांग्रेस कमेटी कार्यालय शाहजहांपुर के सामने से  न्याय पद यात्रा का प्रारम्भ होना निश्चित था। उचैलिया में रात्रि विश्राम के बाद 1 अक्टूबर को वहां से चलकर बेबे का कॉलेज लखीमपुर में रात्रि पड़ाव।


 2 अक्टूबर को लखीमपुर से चलकर महोली सीतापुर में प्रवास। 3 अक्टूबर को महोली से चलकर सीतापुर में ही रात्रि विश्राम। 4 अक्टूबर को सीतापुर में भ्रमण के बाद कमलापुर में ठहराव। 5 अक्टूबर को कमलापुर से चलकर सीतापुर के अटरिया में पड़ाव। 6 अक्टूबर को अटरिया से कूच लखनऊ के मड़ियांव में अंतिम पड़ाव। सात अक्टूबर को लखनऊ में यात्रा का समापन होना  निश्चित है

Comments