आजादनगर में आधा दर्जन अर्धनिर्मित मकान बना जुआरियों व शराबियों का अड्डा

 आजादनगर में आधा दर्जन अर्धनिर्मित मकान बना जुआरियों व शराबियों का अड्डा

 

शाम ढलते ही जुआरियों व शराबियों की सजने लगती है मंडी

आज़ाद नगर का ऊपरी टोला बना ऐयाशियों का सेफ जोन

लूटे हुए माल का आराम से किया जाता है इस जगह पर बंटवारा

अब तक पुलिस की नज़र से छिपा है आज़ाद नगर का ऊपरी टोला

इस इलाके में न पुलिस गश्त और न ही पुलिस का पड़ता है छापा

महिसौड़ी,आजादनगर,कृष्णपट्टी,बिहारी और कल्याणपुर सहित कई मोहल्ले के लोग शामिल

 

जमुई:-

शहर स्थित आज़ाद नगर मोहल्ले का ऊपरी टोला इन दिनों असामाजिक तत्वों का जमावड़े के रूप में चर्चित हो रहा है।इस इलाके में आधा दर्जन से अधिक अर्धनिर्मित मकान वैसे तत्वों के लिए सुरक्षित बना हुआ है।शाम ढलते ही यहाँ असमाजिक तत्वों का जमावड़ा लगना शुरू हो जाता है।और यह जमावड़ा पूरी रात चलता है।इसी जमावड़े के दौरान चोरी और लूट जैसे घटना की साजिश रच कर अंजाम दिया जाता है।इतना ही नहीं शहर में हुए चोरी के सामानों का भी बंटवारा इसी जगह पर किया जाता है।स्थानिए लोगों में इनलोगों से दहशत फैली रहती है रात होते ही लोग किसी अनहोनी घटना से सहमे रहते हैं।ऐसे लोगों के खिलाफ लोग ज़ुबान खोलने से भी डरते हैं।

 

कई मोहल्ले के लोगों का लगता है जमावड़ा

 

नाम नहीं छापने के डर से स्थानिए लोग बताते हैं कि कुछ युवक आज़ाद नगर मोहल्ले के मिले हुए हैं जिसके इशारे पर महिसौड़ी, बिहारी, कल्याणपुर, कृष्णपट्टी सहित कई मोहल्ले के बदमाशों का जमावड़ा प्रत्येक दिन आज़ाद नगर मोहल्ले के ऊपरी टोला में अर्धनिर्मित मकानों में लगता है।जो शाम होते ही जुआ और शराब में लीन हो जाते हैं।इतना ही नहीं उनलोगों का अय्याशी भी चरम सीमा पर होता है लेकिन डर से स्थानिए लोग मुंह नहीं खोल पाते हैं।

 

कई घरों को बना चुका है चोरी का शिकार

 

जुआ और शराब के बाद जब रात ढलती है तो सभी लोग इसी जगह से चोरी की साजिश रचते हैं और वैसे घरों को वो लोग अपना निशाना बनाते हैं जिस घरों को लोग बन्द कर कुछ दिनों के लिए बाहर चले जाते हैं।वहीं स्थानिए लोग बताते हैं कि दिन में सभी लोग गली-गली घूम कर घर को चिन्हित करते हैं और रात में चोरी की वारदात को अंजाम देते हैं।बताते चलें कि एक वर्षों में चोरों द्वारा करीब आधा दर्जन से अधिक घरों को चोरी का निशाना बनाया जा चुका है।जिसमें एक वर्ष पहले इसी मोहल्ले के मो.नियाज़ के घर में ताला तोड़कर लाखों की चोरी की गई थी,उसके बाद 06 महीने पहले मो.बसीर, मो.आफताब आलम और मो.तालिब के यहां तो दो महीना पहले मो.इकबाल उर्फ पप्पू के यहां,04 दिन पहले शांतिनगर मोहल्ले के राजेन्द्र भगत,दो दिन पहले मो.फैयाज अहमद और मो.फिरोज़ खान के घर में ताला तोड़ कर लाखों रुपये की चोरी की गई है।इतना ही नहीं कई ऐसे घर भी हैं जिन्होंने चोरी की घटना के बाद डर से प्राथमिकी भी दर्ज कराना उचित नहीं समझा।

 

06 महीना पहले बंटवारे को लेकर दो जुआरियों के बीच हुई थी लड़ाई

बताते चलें कि कुछ महीने पहले की ही बात है लूट के सामानों के बंटवारे को लेकर जुआरियों के दो समूह में तनाव उत्पन्न हो गई थी इसी तनाव की वजह से जुआरियों का एक समूह का कहर मो.आफताब आलम के घर पर बरपा और मकान के चारों ओर लगे शीशे और दरवाजे को तोड़ दिया गया था।

इसका विरोध करने करने के बाद जुआरियों ने मो.आफताब आलम सहित दो लोगों को तलवार से वार कर गंभीर रूप से घायल भी कर दिया था।जिस खबर को जागरण ने छह महीना पहले प्राथमिकता से लिखी थी और पुलिस की कार्रवाई से गश्ती वाहन की वजह से जुआरियों का जमावड़ा लगना बन्द हो गया था।लेकिन फिर कुछ महीने से वही दृश्य देखने को मिल रही है।

 

पुलिस को नहीं है जुआरियों के जमावड़े की सूचना

आज़ाद नगर का ऊपरी टोला महीनों से जुआरियों,शराबियों और ऐयाशियों का अड्डा बना है।कई मोहल्ले के लोग इस जगह पर इकट्ठे होते हैं।लेकिन ताज्जुब की बात तो यह है कि थाना से महज एक किलोमीटर के दायरे में अवस्थित उक्त मोहल्ले की गतिविधियों की सूचना पुलिस को नहीं है।आखिर तभी तो उक्त इलाके में न पुलिस की छापा पड़ती है और न ही पुलिस गश्त देखने को मिलता है।

 

कहते हैं एसपी

इस सम्बंध में एसपी ने जगुनाथरेड्डी ने बताया कि ऐसे असामाजिक तत्वों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा।जल्द ही उनलोगों पर कार्रवाई की जाएगी

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments