दिल्ली के मायापुरी में सीलिंग हुई  दुकानों को खाली करने का 48 घंटे का अल्टीमेटम

दिल्ली के मायापुरी में सीलिंग हुई  दुकानों को खाली करने का 48 घंटे का अल्टीमेटम

दिल्ली-

राहुल शर्मा की रिपोर्ट--

15 अप्रेल 2019

मायापुरी में एक बार फिर सीलिंग शुरू होगी। डीपीसीसी ने इलाके की 812 औद्योगिक इकाइयों और दुकानों के बाहर सीलिंग का नोटिस चस्पां कर दिया है। 13 अप्रैल को जारी नोटिस में दुकानों और औद्योगिक इकाइयों को खाली करने के लिए 48 घंटे का वक्त दिया गया है। साथ ही क्षेत्र में प्रदूषण फैलाने वाली इकाइयों पर इनवायरमेंटल डैमेज कंपनशेसन (र्डडीसी) का नोटिस चस्पा कर 50-50 लाख रुपये जमा कराने के निर्देश दिए गए हैं।  इलाके में दुकानों और प्रतिष्ठानों के बाहर चस्पा नोटिस की मियाद सोमवार को खत्म हो जाएगी। इसके देखते हुए कारोबारियों ने औद्योगिक इकाइयों और दुकानों से सामान हटाना शुरू कर दिया है। जिन्हें सामान रखने की जगह नहीं मिल रही है उनमें से कई कम कीमत पर पार्ट्स और स्क्रैप बेचकर जगह खाली करने की तैयारी में जुट गए हैं। इधर रविवार को पूरे इलाके में दिन भर पुलिस तैनात रही। 

 कारोबारी सुखदिल ने बताया कि पहले एमसीडी ने नोटिस भेजकर एक-एक लाख रुपये जमा करवाने के निर्देश दिए थे। इसके बाद सीलिंग की कार्रवाई शुरू होने पर भी इकाइयों के बाहर सीलिंग के नोटिस के साथ साथ लाखों का जुर्माना लगाया गया है। कई इकाइयों पर एनवॉयरमेंटल डैमेज कंप्नशेसन (ईडीसी) का नोटिस लगाते हुए 50 लाख रुपये बतौर जमा करवाने के आदेश दिए गए हैं।

वहीं कारोबारी बलजीत सिंह का कहना है कि उनलोगाें को सीलिंग की कार्रवाई की पूर्व सूचना नहीं दी गई थी। जबकि आमतौर पर कार्रवाई से पहले नोटिस जारी कर वक्त दिया जाता है। वहीं विक्रम सिंह ने बताया कि दुकानें खाली करने के लिए न तो वक्त दिया गया और न ही कोई वैकल्पिक स्थान। यह प्रदूषण पर रोक लगाने की दिशा में उठाया गया कदम है या कारोबार बंद करने की। इनमें कुछ ऐसी भी दुकानें हैं, जिनमें सीएनजी किट या स्पेयर पार्ट्स की बिक्री की जाती है। 

अहम है कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल (एनजीटी) के आदेश पर शनिवार को मायापुरी फेस-दो में सीलिंग करने पहुंची टीम से दुकानदारों और कारोबारियों का विवाद हो गया। विरोध बढ़ने पर हालात बेकाबू हो गए थे। पथराव और लाठीचार्ज के बाद सीलिंग की कार्रवाई रोक दी गई थी। 

आज खत्म होगी नोटिस की मियाद 

शनिवार को कार्रवाई के बाद इलाके में कई इकाइयों के बाहर नोटिस चस्पा की गई है। 48 घंटे के नोटिस की मियाद सोमवार को खत्म हो जाएगी। माना जा रहा है कि इसके बाद किसी भी वक्त टीम की ओर से कार्रवाई की जा सकती है। सुरक्षा के लिहाज से पुलिस के अलावा अर्द्धसैनिक बलों को भी बुलाया जा सकता है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments