देश में आजादी बढ़ेगी तो हमारा दायित्व भी बढ़ेगाःप्रथ्वीराज

देश में आजादी बढ़ेगी तो हमारा दायित्व भी बढ़ेगाःप्रथ्वीराज

अलीगढ़ -

अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी के विधि संकाय द्वारा छात्रों के लिए मोटीवेशनल लेक्चर का आयोजन किया गया जिसका शीर्षक ‘‘भारत में लायर जूडीशियरी का महत्व’’ था।
इस विषय पर बोलते हुए एडवोकेट एवं प्रसिद्व मोटीवेटर प्रथ्वी राज एनके ने कहा कि विधि का व्यवसाय एक ऐसा व्यवसाय है जहां हम अपने भविष्य के साथ साथ संविधान के भविष्य को भी उज्जवल कर सकते हैं।

यदि भारत की संविधानिक सभा को देखा जाए तो हमें मालूम होता है कि उस समय से आज तक देश की दिशा विधि विशेषज्ञ ही तय करते आए हैं। एडवोकेट प्रथ्वी राज ने कहा कि जैसे जैसे देश में आजादी बढ़ेगी हमारा दायित्व भी बढ़ता चला जाएगा।

उन्होंने कहा कि बहुत से कामयाब वकील अपने जमाने में अच्छे शिक्षक भी रहे हैं और यदि उच्चतम न्यायालय के जजों को देखा जाए तो बड़ी संख्या में वह एलएलएम की डिग्री धारण किए हुए मिलते हैं। उन्होंने विधि संकाय द्वारा आयोजित व्याख्यान पर हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे आयोजन निरंतर होते रहने चाहिए ताकि छात्रों में न्याययिक सेवा में जाने के प्रति आकर्षण पैदा हो।
मुख्य वक्ता ने अपने सम्बोधन के बाद छात्र व छात्राओं को न्यायिक सेवा में सफल होने के गुर बताए जिसे छात्र व छात्राओं ने बहुत सराहा।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विधि संकाय के डीन प्रो. शकील समदानी ने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में न्यायपालिका का महत्व बहुत बड़ गया है। इसलिये न्यायपालिका में योग्य एवं न्यायप्रिय लोगों को अवश्य जाना चाहिए और इसका सफल माध्यम अधिनस्थ न्याययिक सेवा है।

उन्होंने कहा कि अमुवि का विधि संकाय देश के नामचीन संकायों में से एक है और यदि शिक्षकों और छात्रों ने अपनी पूर्ण क्षमताओं का प्रयोग किया तो यह संकाय और तरक्की करेगा।
मेहमानों का स्वागत छात्र अब्दुल्ला समदानी ने किया। संचालन अदनान जैदी ने किया तथा धन्यवाद प्रो. शकील अहमद ने किया।

Comments