धान क्रय केन्द्रों पर सभी सुविधाएं मुहैया कराएं अधिकारी-डीएम

धान क्रय केन्द्रों पर सभी सुविधाएं मुहैया कराएं अधिकारी-डीएम

बिना किसी परेशानी के क्रय हो किसानों का धान, पंजीकरण  के बाद ही क्रय केन्द्रों पर होेगी धान की खरीद

गोण्डा -

विपणन वर्ष 2019-20 के तहत किसानों की उपज का एक-एक दाना समर्थन मूल्य पर खरीदा जाय तथा यह सुनिश्चित किया जाय कि किसानों को उनकी धान की उपज को बेंचने के लिए परेशान न होेना पड़े तथा किसानों की फसल का भुगतान समय से मिले।

यह निर्देश जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल ने कलेक्ट्रेट सभागार में धान खरीद की समीक्षा के दौरान विपणन अधिकारियों को दिए हैं।

जिलाधिकारी ने बैठक में निर्देश दिए कि तत्काल प्रभाव से सभी धान क्रय केन्द्र सक्रिय कर किसानों की उपज का क्रय शुरू कर दिया जाय तथा यह भी सुनिश्चित किया जाय कि किसी भी दशा में बिचैलिये किसानों का शोषण न करने पावें।

उन्होंने कहा कि सभी क्रय केन्द्रों पर पर्याप्त मात्रा में बोरा, नमी मापक यंत्र सहित अन्य जरूरी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएं जिससे किसानों को धान विक्रय में दिक्कत न होे।

समीक्षा बैठक में ज्ञात हुआ कि इस वर्ष जिले में धान खरीद हेतु 24 हजार 8सौ मीेट्रिक टन का लक्ष्य शासन द्वारा निर्धारित किया गया है, जिसमें खाद्य विभाग द्वारा 2500, पीसीएफ द्वारा 8200, पीसीयू 8100 तथा यूपीएसएस द्वारा 6000 मीेट्रिक टन धान की खरीद का लक्ष्य आवंटित किया गया है।

वहीं धान की खरीद हेतु जिले में विभिन्न क्रय एजेेन्सियों द्वारा कुल 69 क्रय केन्द्र बनाए गए हैं जिनमें खाद्य विभाग के 11, पीसीएफ के 24, पीसीयू के 20 तथा यूपीएसएस के 14 क्रय केन्द्रों पर धान की खरीद होगी।

डिप्टी आरएमओ ने बताया कि वर्तमान में 24 क्रय केन्द्रों पर धान की खरीद शुरू हो गई है। उन्होंने यह भी बताया कि किसानों को धान बेंचने के लिए हर हाल में विभागीय वेबसाइट पर पंजीकरण कराना होगा।

उन्होनें बताया कि पंजीकरण किसी भी लोकवाणी केन्द्र, जनसेवा केन्द्र पर कराया जा सकता है। इसके अतिरिक्त सभी क्रय केन्द्रों पर भी पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध है जहां पर किसानबन्धु अपना पंजीकरण करा सकते हैं। उन्होंने बताया कि किसानों को पंजीकरण के लिए बैंक पास बुक, आधार कार्ड व खतौनी लाना अनिवार्य होगा।

उन्होंने धान विक्रय में परेेशानी आने पर सहयोग के लिए शिकायत नम्बर जारी कर बताया कि कोई भी किसान सुबह 10 बजेे से सांय 05 बजे तक मोेबाइल नम्बर 05262-222637 या टोल फ्री नम्बर 18001800150 पर काॅल करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है।

बैठक में सीडीओ आशीष कुमार, डिप्टी आरएमओ लाल बहादुर गुप्ता, एफसीआई के अधिकारीगण व विपणन निरीक्षकगण उपस्थित रहे।

Comments