धूमधाम से मनाया गया विद्यालय का 22वां स्थापना दिवस 

धूमधाम से मनाया गया विद्यालय का 22वां स्थापना दिवस 

उन्नाव

थाना बीघापुर क्षेत्र के टिकुरीमऊ में संचालित सिद्धार्थ इंटर कॉलेज में 22वां स्थापना दिवस समारोह धूमधाम से मनाया गया। समारोह में साहित्यिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अलावा ख्यातिलब्ध कवियों ने काव्य पाठ कर लोगों की वाहवाही लूटी।


    सिद्धार्थ इंटर कॉलेज की स्थापना दिवस समारोह में विद्यालय के छात्रों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। विद्यालय प्रबंधक कुंजबिहारी यादव व प्रधानाचार्य नीरजा सिंह ने कक्षा 10 व 12 के श्रेष्ठ छात्र-छात्राओं को प्रतिभा अलंकरण सम्मान से सम्मानित भी किया। सम्मान समारोह के बाद

आयोजित कवि सम्मेलन में आए कवियों ने कविताओं के माध्यम से समारोह में समा बांधा। वाणी बंदना का शुभारंभ करते हुए कुमार प्रदीप शर्मा ने पढ़ा-शारदे नमन करता है आज मन जन-जन में समाओ कण-कण महकाओ मां। हंस पे सवार हाथ ले के मां सितार, भक्त करता पुकार झट दौड़ी चली आओ मां।

उन्नाव जनपद के जाने-माने साहित्यकार कवि नरेंद्र आनंद ने पढ़ा-सदियां ये गुजरती रहे पर तू अमर रहे, ऐसा पटेल नामवर भारत का लाल था। कमलीखेड़ा के सशक्त हस्ताक्षर कमलेश कुमार शुक्ला कमल ने पढ़ा-दीप बनकर जले घोर तम के लिए, वन सुमन जो खिले इस चमन के लिए। भावना पुष्प सादर समर्पित उन्हें, शीश झुकता हमारा नमन के लिए।

दिनेश उन्नावी ने पढ़ा-कमी नहीं दुश्मनन कै, जितने चहौ बनाव। खाली इतना तुम करौ नीके खाव कमाव। ओज कवि के सशक्त हस्ताक्षर बासुदेव अवस्थी ने पढ़ा-धर्म पथ पर ही चलता रहूंगा, हर अंधेरे को खलता रहूंगा, यूँ बुझाने की कोशिश न करना, वह दिया हूं

जलता रहूंगा। कवि सम्मेलन में संदीप श्रीमाली उमाशंकर यादव भारत सिंह वीपी सिंह रामकुमार यादव कुमुदेश ने भी अपनी रचनाएं पढ़ी। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से गंगाप्रसाद यादव शिवाधार वर्मा नंदकिशोर सिंह धर्मेंद्र यादव रामकिशोर यादव आदि रहे। अध्यक्षता बासुदेव अवस्थी व संचालन दिनेश उन्नावी ने किया।

 

Comments