पाइप लाइन लीकेज बनने के तुरंत बाद फिर हुआ लीकेज

पाइप लाइन लीकेज बनने के तुरंत बाद फिर हुआ लीकेज

असोथर/फतेहपुर

असोथर कस्बे के ब्लॉक मुख्यालय के सामने कॉफ़ी दिनों से पाइप लाइन लीकेज थी जिसमे 5दिन पहले पानी टँकी की मोटर जल जाने के बाद वह लीकेज बनाया गया था जिसमे लीकेज बनाने में पूरा एक हफ्ता लग गया था

जिसके चलते लोग ब्लॉक के अंदर गाडीयो से जा नही पा रहे थे जब सोमवार को पानी टँकी की मोटर बनी और पानी कस्बे के लिए छोड़ा गया तभी 65 मिनट के अंदर वही ब्लॉक मुख्याल के सामने बनाया गया लीकेज फिर से लीक हो गया जिससे ब्लॉक मुख्य गेट पर फिर से पानी भर गया और लोगो का आना जाना कष्टमयी हो गया लोगो का कहना है कि यह पाइपलाइन 25 वर्ष पहले पड़ी थी जिसमे यह पाइप लाइन ध्वस्त हो चुकी है जिससे कस्बे के आधा दर्जन मजरों में पानी नही जा रहा है वही ग्रामीणों का यह भी कहना है कि जगह जगह पर लीकेज होने के कारण दूषित पानी पीने को मिल रहा है।

लोगो का यह भी कहना है कि कई बार इस पाइप लाइन को बदलाने के लिए अयाह शाह विधायक विकास गुप्ता व केंद्रिय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति से पाइप लाइन बदलाने की मांग की थी लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नही हुई। जिसमें एक विधायक जी का कहना है कि जल्द ही पाइप लाइन बदलायी जाएगी और लोगो को स्वक्ष जल पीने को मिलेगा।

लोगो ने बताया कि इस लीकेज की वजह से इंडिया मार्का के लगे हैण्ड पाइप से पानी पीने को लाते है पर जिसके घर के सामने इंडियामार्क का नल लगा हुआ है वह जल्दी पानी नही भरने देता उनका कहना है कि यब नल हमारे दरवाजे लगा हुआ है यही नही कस्बे के इंडियामार्क के नालो में लोगो ने समरसेबल भी डलवा रखा है जिससे पानी की सबसे ज्यादा बर्बादी वही करते है।

बात यही नही खत्म होती ग्रामीणों ने कहा कि सरकार द्वारा सार्वजनिक जगहों पर लगवाने के लिए दिए गए इंडियामार्क नलो को लोगो ने अपने घर के बाहर लगवा के बाउंड्री करवा लेते है तो कोई समरसेबल डलवा लेता है तो कोई दरवाजे पर लगे नल से पानी नही भरने देता है क्या इस भीषण गर्मी में लोग प्यासे मरेंगे।

एक तरफ पानी की त्राहि मची हुई है, वही ब्लॉक परिसर में पानी की बर्बादी हो रही है, फिर भी जिम्मेदार मौन

हम बात करते है असोथर ब्लॉक परिसर की जहाँ बोर कराने के बाद उसे खुला छोड़ दिया गया है दिन हो या रात दोपहर हो या शाम 24 घटे उस बोर को पानी उगलना है तो उगलना है। जैसे ही लाइट आती है वैसे ही ब्लॉक पर कराया हुआ बोर पानी उगलना सुरु कर देता है

जिसके चलते काफी पानी बर्बाद हो जाता है यहाँ इस भीषण गर्मी में इस बार असोथर कस्बे में पानी का स्टेटस बहुत ही नीचे चला गया है जिससे कुआ, नल , ताला तम्बर सब सुख चुके है कुछ कुओ में पानी है जिससे लोगो की प्यास बुझ रही है और एक तरफ ब्लॉक मुख्यालय पर ही पानी की बर्बादी होती हैं क्या इसकी खबर किसी अधिकारी को नही है या फिर सब के सब मौन बैठे हुवे है।।

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments