गेहूं चोरी करने के आरोप में युवक को गंभीर रूप से घायल किया

 गेहूं चोरी करने के आरोप में युवक को गंभीर रूप से घायल किया
  • पुलिस ने मारपीट करने वाले आरोपी के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा
  • बिंदकी स्थित मंडी स्थल के सरकारी गेहूं के केंद्र का मामला

बिंदकी फतेहपुर

सरकारी गेहूं केंद्र में तौल के लिए रखे गए गेहूं के ढेर से गेहूं चोरी करने के आरोप में एक किसान को दबंग बिचौलिए ने अपने साथियों के साथ जमकर मारा पीटा और गंभीर रूप से घायल कर दिया जिसको आनन-फानन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। पुलिस ने इस मामले में आरोपी दबंग के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं गंभीर घायल को प्राथमिक उपचार बाद फौरन जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के बसंती खेड़ा गांव निवासी रामकरण उम्र 30 वर्ष करीब 10 दिन पहले अपना गेहूं तौलाने नगर के मंडी स्थल स्थित सरकारी गेहूं क्रय केंद्र आए थे। उन्होंने अपना गेहूं क्रय केंद्र के पास डाल दिया।

उधर नगर के ही महरहा रोड निवासी दबंग बिचौलिए हिमांशु गुप्ता पुत्र चंद्रभान गुप्ता ने अपना गेहूं तौल कराने के लिए सरकारी गेहूं क्रय केंद्र के पास ही डाल दिया। जब दोनों लोगों के गेहूं सरकारी कांटा में तौल गए तो इसके बाद दबंग हिमांशु गुप्ता ने किसान रामकरण के ऊपर आरोप लगाया

कि उसने उसके ढेर से कुछ गेहूं निकाल लिया है इसी आरोप को लेकर हिमांशु खुन्नस मानने लगा। बुधवार की देर शाम करीब 7:30 बजे हिमांशु गुप्ता अपने कई साथियों के साथ मंडी स्थल पहुंचा और रामकरण को अकेला पाकर उसकी जमकर पिटाई करते हुए गंभीर रूप से घायल कर दिया। खून से लथपथ रामकरण को आनन-फानन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। इस मामले में पुलिस ने आरोपी हिमांशु के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज किया है। उधर गंभीर घायल रामकरण की हालत चिंताजनक देख चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार बाद जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

बिंदकी कस्बे के कुंवरपुर रोड स्थित मंडी स्थल में लगे सरकारी गेहूं के केंद्रों में दबंग बिचौलिए हमेशा हावी रहते हैं जिसके कारण किसानों को अपने गेहूं की तौल कराना कठिन हो जाता है अधिकारी भी दबंग बिचौलियों का गेहूं सबसे पहले तोलते हैं। जानकारी के अनुसार दबंग बिचौलिए और व्यापारी अपने निकट के किसानों से उनकी खतौनी और बहीखाता ले लेते हैं और उसके माध्यम से गेहूं की सरकारी केंद्रों में तौल करते हैं।
यह गोरखधंधा कई वर्षों से लगातार फल फूल रहा है जिसके कारण मंडी स्थल में कई बार बिचौलियों के बीच मारपीट भी हो चुकी है इसकी शिकायत प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा जनप्रतिनिधियों तक भी की गई है लेकिन इसमें सुधार नहीं हो पाता है ताज्जुब तो इस बात का है कि सफेदपोश नेताओं के संरक्षण में सरकारी गेहूं के केंद्र में कब्जा किया जाता है और किसानों की तौल नहीं होती है किसान केंद्रों के चक्कर लगाते रहते हैं और बिचौलिए अपनी तौल करा कर जेब भरते रहते हैं।
 
Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments