जान जोखिम में डालकर पढ़ने जाते हैं बच्चे

जान जोखिम में डालकर पढ़ने जाते हैं बच्चे

फतेहपुर किशनपुर/ यह तस्वीरें किशनपुर से विजयीपुर चलने वाले बच्चों की हैं। फतेहपुर जिले की सबसे पुरानी नगर पंचायत किशनपुर है जहां पर क्षेत्र का एकमात्र इंटर कॉलेज है जिसमें की आज तक कक्षा 12 विज्ञान वर्ग का नहीं हो सका जिसके कारण दूरदराज के गांव से विद्यार्थियों को अपनी जान जोखिम में डालकर विजयीपुर पढ़ने जाते हैं

यह लगभग दूरदराज के क्षेत्रों से 12किलोमीटर का सफर करते हैं और अभिवावक इस समस्या की ओर ध्यान नही दे रहे हैं।किराया महत्वपूर्ण है या जिंदगी समझना मुश्किल है प्रसाशन किसी बड़ी घटना के इंतजार में पूर्णतया मौन साधे हुवे है ।विकास करते भारत मे यह तस्वीरें मुह चिढ़ाती हैं

Comments