धाता के देवरार प्रधान ने प्रधानमंत्री आवास में बजाया लूट का डंका

धाता के देवरार प्रधान ने प्रधानमंत्री आवास में बजाया लूट का डंका

टूट कर बिखरे शौचालय अधूरे पड़े पीएम आवास

          रिपोर्टर - नितेश केशरवानी

फतेहपुर-

उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार बनने के बाद गरीबों में न्याय और भ्रष्टाचार मुक्त की आस जगी थी परंतु अभी कुछ ऐसे ग्राम पंचायते है जहां पर बिना चढ़ावा के कोई योजना का श्रीगणेश नहीं किया जाता।

आपको बता दें फतेहपुर जनपद के धाता विकासखंड के देवरार गांव में प्रधानमंत्री आवास के लाभार्थियों को आवास देने के नाम पर पहले ₹20000 का चढ़ावा चढ़ाया गया जिसके बाद गरीबों को किस्त मुहैया कराई गई इतना ही नहीं लाभार्थियों ने प्रधान पर आरोप लगाते हुए।

बताया बिना चढ़ावा के किसी योजना का श्रीगणेश नहीं किया जाता है यहां तक की शौचालय के नाम पर 2000 और प्रधानमंत्री आवास के नाम पर ₹20000 पहले लेकर बाद में योजना का लाभ दिया जाता है।

जिससे आज तक किसी भी प्रधानमंत्री आवास का कायाकल्प पूरी तरह से नहीं हो सका और इतना ही नहीं यहां शौचालय के लाभार्थियों ने बताया प्रधान और सचिव ने मिलकर गांव में 1 सैकड़ा से अधिक बने शौचालयों के निर्माण में ऐसी धांधली की की सभी शौचालय महज महीने भर में टूट कर बिखर गए।

₹12000 के शौचालय महज ₹4000 में बनाए जा रहे हैं किसी भी लाभार्थी को चेक मुहैया नहीं कराई गई है पूरे गांव में ग्राम निधि के पैसे का बंदरबांट किया गया सफाई कर्मी को सिर्फ अपने दरवाजे पर सफाई करने के लिए रखा जाता है।

वही इस संबंध में ग्राम प्रधान ने बताया हमने किसी से पैसा नहीं लिया चुनावी रंजिश बस विरोधी आरोप लगा रहे हैं ।

प्रधानमंत्री आवास में पैसा नहीं लिया गया शौचालय ठेकेदारी के माध्यम से बनाए गए हैं परंतु सबसे बड़ी बात यह है कि अगर इन  गरीबों  ने प्रधानमंत्री आवास में रिश्वत नहीं दी तो बयान क्यों दिया और अभी तक आवास अधूरे क्यों पड़े हैं यह जांच का विषय है ।

Comments