दर्जनों घटनाओं के बाद भी टूट गई आस अब नहीं सुधरेगा पांटून पुल

दर्जनों घटनाओं के बाद भी टूट गई आस अब नहीं सुधरेगा पांटून पुल

फतेहपुर न्यूज़

 

दर्जनों घटनाओं के बाद भी टूट गई आस अब नहीं सुधरेगा पांटून पुल किशनपुर

 

बजट ना होने से चंद्र दिनों में पुल को तोड़ने की बन रही रणनीति

किशनपुर फतेहपुर  

            फतेहपुर जनपद की यमुना किनारे बसी धर्म नगरी किशनपुर समीप बने यमुना नदी पर पांटून पुल में हो रही लगातार जानलेवा दुर्घटनाओं के बाद भी लोक निर्माण विभाग साध रहा है चुप्पी और आंखें मूंद रहा है आखिर करे तो क्या करें अधिकारियों की मानें तो विभाग में कोई बजट नहीं है जिससे पुल का नवीनीकरण कराया जा सके फुल में निशुल्क आवागमन होने के कारण लोग ओवरलोड वाहन लादकर मनमानी तरीके से नदी पार करते हैं जिससे दुर्घटना का कारण बनता है

दुर्घटनाएं जब हम ने पूछा दुर्घटना रोकने का एक उपाय पुल को तोड़ना ही ठीक रहेगा या कुछ मरम्मतीकरण होगा इसके जवाब मेंलोक निर्माण विभाग फतेहपुर के अधिशासी अभियंता रूपेश सोनकर ने बताया बजट कम होने के कारण इस वर्ष पुल में कार्य करवाना मुश्किल है यमुना में बाढ़ का समय भी आ चुका है बस कुछ दिन में ही पुल टूटना चालू हो जाएगा और अगले साल पूरी तैयारी से पुल को अच्छे ढंग से चलाया जाएगा_

Comments