ग्राम पंचायत के खातों से करीब करोड़ो रूपये की धन निकासी मामले में सुर्खियों में

ग्राम पंचायत के खातों से करीब करोड़ो रूपये की धन निकासी मामले में सुर्खियों में

तारुन फैजाबाद। ओपी वर्मा 

ग्राम पंचायत के खातों से करीब करोड़ो रूपये की धन निकासी मामले में सुर्खियों में आये पंचायत सचिव गिरजेश तिवारी पर बिभागीय चाबुक चलने के बाद जांच की आंच से बचने को प्रधानों ने भी लक्ष्मण रेखा खीच प्रशासन को चाबुक चलाने से कागजो की लकीरों से रोक रक्खा है।बताया जाता है कि इतने बड़े घोटाले में गिरजेश तिवारी ही अकेले गुनाहगार नही है ।इसमें तत्कालीन बीडीओ के अलावा जिला पंचायत राज अधिकारी भी जांच प्रक्रिया के लपेटे में आ सकते हैं।

चुकी एक ब्लाक से दूसरे ब्लाक स्थानांतरण फिर वापसी बिना डीपीआरओ के स्वविकृति के नही होती है।

अधिवक्ता राकेश तिवारी की माँगी गई जन सूचना में प्रेषित कराई गई रिपोर्ट में जिला पंचायतराज अधिकारी फैजाबाद ने एडीओ पंचायत पूरा बाजार के माध्यम से उपलब्ध कराई है उसमें कहा गया हैं कि ग्राम पंचायतों में चतुर्थ राज्य वित्त ,चौदहवाँ राज वित्त के अंतर्गत बिना कार्य योजना फिड कराये कार्य नही किये जा सकते।दूसरे बिंदु बिना कार्य योजना फिड कराये कार्यो की आई डी निकलना संभव नही है।

जबकि वर्क आई डी निकालने का काम सचिव ग्राम पंचायत का है।आई डी निकालने का काम ग्राम पंचायत स्तर पर सचिव ग्राम पंचायत तथा विकास खंड स्तर पर एडीओ पंचायत का होता हैं। शपथपत्र देकर जिलाधिकारी से कोई कार्यवाही न करने की अपेक्षा आरोपित ग्राम प्रधानों ने की है।अब प्रशासन क्या करता हैं सबकी निगाहें उसी पर टिकी है अभयदान मिलेगा या दंड ।न्याय न मिला तो प्रधान ले सकते हैं अदालत का सहारा।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments