शासन के आदेश की उड़ाई धज्जियां बिना आदेश रजिस्टर प्रक्रिया से बंटा राशन

 

घाटमपुर ।  

राशन वितरण में गड़बड़ी न हो और गरीबो को आसानी से राशन मिल जाए इसके लिए सरकार ने नई प्रक्रिया के तहत मशीनें लगा दी ।

परन्तु कोटेदार द्वारा प्रशिक्षण ना दिए जाने और ग्रामीण क्षेत्रों में नेटवर्क की की कमी के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में राशन मशीनों द्वारा वितरित नहीं किया गया परंतु कुछ कोटेदारों द्वारा रजिस्टर से वितरण किया गया बात हो रही है

घाटमपुर तहसील क्षेत्र के तिलसड़ा ग्राम के कोटेदार ठाकुरदीन  और राम शंकर तिवारी और बलाहपारा की कोटेदार सुषमा देवी की । बताते चलें कि  जब रविवार को स्वतंत्र चेतना की टीम ने  गांव-गांव जाकर हकीकत जाननी चाही तो नतीजा कुछ इस तरह से रहा ।

तिलसड़ा गांव के कोटेदार ठाकुर दिन द्वारा मशीनों से वितरण न करके रजिस्टर से वितरण किया गया रजिस्टर देखने से पता चला कि रजिस्टर में नाही पूर्ति निरीक्षक की मोहर लगी है और ना ही पूर्ति निरीक्षक के हस्ताक्षर है पूर्ति निरीक्षक अनुज कुमार से जब  पत्रकार  ने फोन पर वार्ता करनी चाही तो पूर्ति निरीक्षक का फोन  रविवार को पूरे दिन  स्विच ऑफ रहा  ।

बताते चलें कि  ग्रामीणों के मुताबिक कोटेदार  जिन कार्ड धारकों के  कार्ड में 7 यूनिट दर्ज है  तो उन कार्ड धारकों को  3 यूनिट का गल्ला दिया और जिन कार्ड धारकों के पांच यूनिट दर्ज है तो उन कार्ड धारकों को को दो-दो यूनिट का गल्ला देकर नौ दो ग्यारह कर दिया ।

ग्रामीणों ने जब इसकी आवाज उठाई तो कोटेदार ने कहा कि 11 कुंटल गल्ला कम मिला हैं ।  जिसकी वजह से हम कम यूनिट करके गल्ला दे रहे हैं । बताते चलें कि यही हाल तिलसड़ा गांव के दूसरे कोटेदार रामशंकर तिवारी व बलाहपारा गांव की कोटेदार सुषमा देवी ने भी किया ।  

वहीं दूसरी तरफ कोटेदारों के पास उनके अपने चाहतों की एक ऐसी लिस्ट है जो अपना राशन कार्ड परमानेंटली कोटेदार के यहां ही जमा करा करके रखते हैं ताकि कोटेदार मनमानी तरीके से उन राशनकार्डो के ऊपर राशन की इंट्री कर सके और उनके मुताबिक अपना रजिस्टर भी मेंटेन कर सकें ।

अंडर कवर रिपोर्टर ने चारों तरफ घूम कर राशन लेने वालों की संख्या के बारे में जानना चाहा लेकिन वहां पर कोई भी राशन लेने वाला व्यक्ति दिखाई नहीं पड़ा और कुछ लोग इधर उधर खड़े जरूर दिखे जिनसे राशन बांटने वाले से या फिर राशन लेने से कोई मतलब नहीं था।

नए कार्ड धारकों को  कोटेदार द्वारा राशन दिया ही नहीं जा रहा है और जो पुराने कार्ड धारक हैं उनको भी पूरी यूनिट के आधार पर गल्ला नही दिया गया ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments