बिना अग्निशामक यंत्र के  चल रही है धड़ल्ले से कोचिंग

बिना अग्निशामक यंत्र के  चल रही है धड़ल्ले से कोचिंग
  •  नहीं है शासनादेश का भय कोचिंग संचालको को। 

  • सूरत में हुई घटना से भी नहीं सबक ले रहे हैं कोचिंग संचालक। 

 

गोला गोकरन नाथ (खीरी)

संवाददाता

आपको बताते चलें हाल ही में सूरत में हुई घटना जिसमें कई लोगों की जान चली गई अगर उस कोचिंग में अग्निशामक यंत्र होता तो शायद आग पर काबू पा लिया जाता और बहुत से मासूमों की जान बचाई जा सकती थी।

लेकिन इससे भी सबक पाकर कोचिंग संचालक अपने कोचिंग में अग्निशामक यंत्र की व्यवस्था नहीं करा रहे हैं। शासनादेश लागू होने के बावजूद भी धड़ल्ले से कोचिंग संचालक अपने मनमानी तरीके से कोचिंग का संचालन कर रहे हैं। गौरतलब यह है।  सदर चौराहा गोला शंकर होटल के निकट वाली गली में कोचिंग का हब बन चुका है। लेकिन कोचिंग संचालक आने वाले विद्यार्थियों को पार्किंग व्यवस्था ना देने की वजह से उनके साइकिल व मोटरसाइकिल रोड पर ही खड़े रहते हैं ।

जैसे कि मानो सड़क नहीं वह उन कोचिंग वालों का पार्किंग अड्डा है। अगर किसी अनहोनी में भीड़ निकलनी पड़े तो शायद ही वहां से निकल पाए इतना ही नहीं इससे आसपास के लोगों को इतनी असुविधा होती है ।आने जाने में लेकिन इन संचालकों को किसी भी बात का भय नहीं है। इस गली में कोचिंग जैसे पैरामाउंट कंपटीशन क्लास, न्यू रेडिक्स कंपटीशन क्लास, श्री साईं कंपटीशन क्लास, शिव कंपटीशन क्लास आदि कई कंपटीशन क्लास मौजूद है ।जिनमें प्रत्येक कोचिंग में लगभग 100 से 200 बच्चे पढ़ते रहते हैं ।

ऐसी स्थिति में किसी भी अफरा-तफरी मचने में कोई भी बड़ा हादसा हो सकता है। और बच्चों को निकलने में असुविधा हो सकती है ।आपको बताते चलें कि कुछ कोचिंग जैसे न्यू रेडिक्स कंपटीशन क्लास, शिव कंपटीशन क्लास, साई कंप्टीशन क्लास व अन्य का तो रजिस्ट्रेशन भी नहीं है। गोला नगर में इस तरह की क्लासेस का संचालन हो ना कहीं ना कहीं जिम्मेदारों की लापरवाही दिखाई देती है । या फिर इन संचालकों को अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है। अगर इसी तरीके से कोचिंग का संचालन होता रहेगा।

तो कभी भी हो सकता है कोई भी बड़ा हादसा अब देखते हैं ।कि शासनादेश होने के बावजूद भी कोचिंग संचालक इसी तरीके से अपनी मनमानी करते रहेंगे ।या जिम्मेदारों की कुंभकर्णी  निद्रा खुलेगी या नही और ऐसे संचालकों पर उचित कार्यवाही करेंगे या नही ।

इन सभी बिंदुओं को लेकर जब फायर ब्रिगेड अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने कहा की कोचिंगो की जांच चल रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कडी कार्यवाही की जाएगी।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments