स्वच्छता अभियान की उड़ाई जा रही धज्जियां

स्वच्छता अभियान की उड़ाई जा रही धज्जियां

गोला गोकर्ण नाथ ( खीरी ) 

केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार द्वारा जहां स्वच्छ भारत अभियान चलाकर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया जा रहा है ।तो वहीं ब्लाक के कई गांव में गंदगी से बज बजाती नालियां स्वच्छता अभियान व स्वास्थ्य विभाग की हकीकत बयां कर रही हैं। स्वच्छता अभियान के तहत सरकार के कई दिग्गज मंत्री व विधायक जगह जगह सफाई अभियान चलाकर लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक भी कर चुके हैं ।स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस अभियान का हिस्सा रह चुके हैं ।

लेकिन सरकार के इस अभियान की ग्रामीण क्षेत्रों में धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। इसी तथ्य का प्रत्यक्ष प्रमाण विकास खंड कुंभी और बांकेगंज है ग्राम पंचायत गोला देहात और बांकेगंज के ग्राम पंचायत जमैैय्यतपुर ,बेनी प्रसाद कॉलोनी द्वारिका गंज,  कालीचरनपुर ,महमदपुर ,कोरैया, कोधवा, गोला देहात जहानपुर ,भुसौरिया, भूतनाथ कॉलोनी, भद्रसेन गुप्ता  कॉलोनी आदि क ई  जगहों पर ग्रामीणों को यह भी नहीं पता है। कि ग्राम पंचायत में सफाई कर्मी कौन है। और उसका नाम क्या है। क्योंकि यहां पर नियुक्त सफाई कर्मी कभी गांव में आता ही नहीं है ।और यदि कभी-कभार आता भी है।

तो ग्राम प्रधान के पास हाजिरी बजा कर चला जाता है। सफाई कर्मी की कार्य हीनता से ग्राम पंचायत में बनी सरकारी नालियों और रास्ते गंदगी से पट गए हैं। और रुके हुए पानी में उत्पन्न मच्छर खतरनाक बीमारियों को खुला नियंत्रण दे रहे हैं। गांव वासियों का कहना है। कि जहां एक और सफाई कर्मी ग्राम सभा में आता ही नहीं है। तो वहीं स्वास्थ्य विभाग की तरफ से गांव में कोई भी दवा का छिड़काव नहीं किया गया ।

तथा गांव में तैनात सफाई कर्मचारियों न आने की वजह से गांव की नालियों में जलभराव हो गया है। नालियों में गंदगी का भी बुरा हाल है ।मालूम हो कि गांव में सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने के लिए पंचायती राज विभाग द्वारा प्रत्येक  ग्राम पंचायत में सफाई कर्मियों की नियुक्ति की गई है ।लेकिन सफाई कर्मचारी गांव में जाने का नाम नहीं ले रहे हैं। वर्षा ऋतु आ गई है। गांव में स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोई भी दवा का छिड़काव अभी तक नहीं हुआ है ।ग्राम प्रधान व एएनएम का संयुक्त खाता होने के बाद गांव में संक्रमण बीमारियों के रोकथाम के लिए गंदगी जहां हो वहां पर दवा का छिड़काव किया जाना चाहिए। किंतु किसी भी ग्राम पंचायत में कोई छिड़काव ना होने से लोग तरह-तरह की बीमारियों से ग्रस्त हो रहे हैं ।

साथ ही साथ सफाई कर्मचारियों की गैर जिम्मेदाराना क्रियाओं की वजह से नालियां पूरी गंदगी से भरी हुई है ।बरसात का मौसम आने वाला है ।अगर समय रहते उस तरफ ध्यान न दिया गया तो गांव में गंदगी की वजह से बीमारियां फैलने की आशंका बनी हुई है। क्षेत्र की ग्राम पंचायत और ब्लाक खंड कुंभी और बांकेगंज के अंतर्गत आने वाले गांव में यही व्यवस्था देखने को मिलती है। यहां लोगों को खुद अपने घरों की नालियों की सफाई करनी पड़ती है ।

जबकि संपूर्ण स्वच्छता अभियान के तहत ब्लाक के गांव में साफ सफाई व्यवस्था को दुरुस्त कराने को सफाई कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है। लेकिन सफाई व्यवस्था भगवान भरोसे ही चल रही  है ।इस बात को लेकर वीडियो एडीओ पंचायत  शासन के अधिकारियों की ओर से भी कई सफाई कर्मचारियों पर कार्रवाई की नहीं गई है ।और न ही किसी प्रधान को आदेश किया गया है ।कि अपनी ग्राम पंचायत में नालियों की व्यवस्था शुद्ध की जाए। जल निकासी शुद्ध की जाए ।

और जलभराव ना होने पाए। साफ-सफाई की व्यवस्था की जाए ।लेकिन प्रधान व सफाई कर्मचारी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं ।अब देखना यह है कि उच्च अधिकारी इसके लिए क्या करेंगे क्या जनता ऐसे ही गंदगी में जीती   रहेगी ।और बीमारियों से ग्रसित रहेगी ।शासन प्रशासन इस तरफ कितना ध्यान देता है ।अब देखना है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments