यात्रियों की जान जोखिम में डाल फर्राटा भरती टैक्सियां

यात्रियों की जान जोखिम में डाल फर्राटा भरती टैक्सियां

करनैलगंज, गोण्डा -

ज्यादा पैसे कमाने की लालच में यात्रियों की जान जोखिम में डालकर ओवरलोड टैक्सियां दिनभर फर्राटा भरती रहती हैं परंतु इनके विरूद्ध न तो परिवहन विभाग कोई कार्रवाई करने की आवश्यकता महसूस कर रहा है न ही पुलिस विभाग। 

करनैलगंज से होकर जाने वाले सभी मार्गों पर डग्गामार और  ओवरलोड टैक्सियां दिन भर यात्रियों की जान जोखिम में डालकर यात्रियों की ढुलाई करती रहती हैं। करनैलगंज से कटरा बाज़ार मार्ग हो या परसपुर मार्ग, गोण्डा मार्ग हो या जरवल रोड मार्ग, शाहपुर मार्ग हो या भग्गड़वा बाजार मार्ग।

इन सभी स्थानों के लिए टैक्सी के रूप में चलने वाली जीप, कमाण्डर आदि तमाम वाहनों में से अधिकांश तो टैक्सी के रूप में पास न होकर प्राइवेट वाहन है परंतु डग्गामारी करके इन मार्गों पर सवारी ढोने के काम में लगे हुए हैं।

ऐसे सभी प्राइवेट और टैक्सी के रूप में पंजीकृत वाहन इतनी अधिक सवारियों को बैठाकर इतनी अधिक स्पीड से चलते हैं कि सवारियों के जीवन पर सदैव खतरा मंडराता रहता है। सड़कों पर अधिक गति से चलने पर दुर्घटनाएं भी होती रहती हैं

जिनमें लोगों को या तो अपनी जान गंवानी पड़ती है या फिर घायल होना पड़ता है। सवारियों को बैठाने की स्थिति तो यहां तक होती है कि एक-एक वाहन पर डेढ़ से दो दर्जन तक  सवारियां बैठा ली जाती हैं जिनमें पीछे और बांई ओर लटकी सवारियां भी शामिल होती हैं। आगे की सीट पर 4 सवारियां बैठाने के बाद खुद चालक भी बैठकर वाहन चलाता है। इस प्रकार पांच लोगों के बैठने के बाद वह कितनी सुरक्षित ड्राइविंग कर पाता होगा, इसकी सहज ही कल्पना की जा सकती है। इन सारी चीजों को परिवहन विभाग के अधिकारी भी देखते हैं और पुलिस भी लेकिन कार्रवाई शून्य ही रहती है जिससे यात्रियों की जान सदैव जोखिम में ही रहती है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments