घाघरा का जलस्तर घटा, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस

घाघरा का जलस्तर घटा, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस

करनैलगंज, गोण्डा -

घाघरा नदी का जलस्तर लगातार दो दिनों से घट रहा है जिसे देख कर ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। 


    लगातार कई दिनों तक हुई भारी बारिश के कारण तीन दिन पूर्व घाघरा नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया था और यह खतरे के निशान से मात्र 20 सेंटीमीटर ही नीचे रह गयी थी। घाघरा के बढ़ते जलस्तर को देखकर एल्गिन-चरसड़ी बांध के निकटवर्ती ग्रामीणों के दिलों की धड़कन बढ़ गयी थीं। ग्रामीणों को अपनी तबाही के पुराने मंजर याद आने लगे थे

जिनमें उनका सबकुछ बाढ़ की भेंट चढ़ गया था। इधर दो दिन से बारिश भी थम गयी है और घाघरा के जलस्तर में हो रही वृद्धि भी थम गयी है तथा घाघरा का जलस्तर अब निरंतर कम हो रहा है। बुधवार की सुबह 6 बजे घाघरा का जलस्तर एल्गिन ब्रिज पर खतरे के निशान 106.076 मीटर के सापेक्ष 105.466 मीटर था जो खतरे के निशान से 61 सेंटीमीटर नीचे था।

जलस्तर में प्रति घंटे 2 सेंटीमीटर की कमी हो रही है जिससे सुबह 10 बजे इसका जलस्तर घटकर 105.386 मीटर पर पहुंच गया था जो कि खतरे के निशान से 69 सेंटीमीटर नीचे था। नदी की प्रकृति घटाव की है जिससे जलस्तर में निरन्तर कमी हो रही है।

घटते जलस्तर को देखकर एल्गिन चरसड़ी बांध के निकटवर्ती ग्रामीणों के दिलों की धड़कनें भी सामान्य हो गयी हैं और वे एक बार फिर बाढ़ का खतरा टल जाने पर ईश्वर का धन्यवाद दे रहे हैं।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments