जनप्रतिनिधियो एवं जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही कहें,या भारी घोटाले

जनप्रतिनिधियो एवं जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही कहें,या भारी घोटाले
  • भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी परियोजना टूटा शुद्ध पेयजल का सपना।
  • शुद्ध पानी न मिलना लोगों के लिए संक्रमण बिमारियों का खतरा बना हुआ है।
  • हम आप का ध्यान  कराना चाहते हैं  कि विकास खण्ड मनकापुर के ग्राम सभा गढ़ी में बर्षो पूर्व बनी पानी की टंकी। जो सफेद हाथी साबित हो रहा है

राजगढ़ गोंडा।। घर-घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने का सपना सरकार की योजना भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया मनकापुर ब्लॉक  के ग्राम पंचायत गढ़ी  में स्थित है यहां के लोगों की आबादी लगभग 10,000 है  पानी की टंकी का निर्माण वर्ष 2015 में मिनी पाइप पेयजल योजना के अंतर्गत एक छोटी टंकी का निर्माण कराया था इस टंकी में आज तक जल नहीं भरा गया जब जानकारी ली गई तो पता चला कि 2015 में जल निगम गोंडा के द्वारा ठेके के माध्यम से ठेकेदार द्वारा निर्माण करवाया गया था किंतु अभी भी इसका पूर्णरूपेण निर्माण नहीं हुआ है फिर भी 2015 में ही जल निगम गोंडा द्वारा इसे पंचायत विभाग को सौंप दिया गया था अब इसके देखभाल व चलाने की जिम्मेदारी पंचायत की है इस व्यवस्था के बारे में कई बार स्थानीय लोगों द्वारा शिकायत भी की गई लेकिन कोई भी पदाधिकारी इसकी मुहैया करने नहीं आया ग्राम वासियों का कहना है कि अगर निर्माण पूर्ण है तो अभी तक पानी की सप्लाई शुरू क्यों नहीं की गई टंकी द्वारा जलापूत ना होने के कारण पास में स्थित प्राथमिक विद्यालय के बच्चों को भी स्वच्छ जल नहीं मिल पा रहा है और ना ही गांव वालों या जनता को ही फिर टंकी लगवाने से कोई फायदा नहीं यह एक प्रकार से सरकारी धन की बर्बादी  हो रही है।
 

Comments