मिसालः स्वतंत्र प्रभात मीडिया वाट्सएप ग्रुप पर मैसेज मिलते ही रक्तदान करने पहुंचे प्रकाश मिश्रा

मिसालः स्वतंत्र प्रभात मीडिया वाट्सएप ग्रुप पर मैसेज मिलते ही रक्तदान करने पहुंचे प्रकाश मिश्रा

महोबा -

मरीज के गम्भीर होने और रक्त की जरुरत की जानकारी मिलते ही एक युवक ने अपने निजी कामों को छोड़कर फौरन जिला अस्पताल पहुंचकर रक्तदान किया। अपनी 27वर्ष की आयु में प्रकाश मिश्रा अब तक चार बार रक्तदान कर चुके हैं।

जिला अस्पताल महोबा में एक महिला मरीज को बी प्लस ब्लड की जरूरत है यह मैसेज दैनिक स्वतंत्र प्रभात महोबा वाटसएप ग्रुप में चल रहा था यह मैसेज प्रकाश मिश्रा इंद्रानगर कबरई निवासी ने जैसे ही देखा तुरंत मेसेज भेजने वाले व्यक्ति से सम्पर्क करके जिला अस्पताल महोबा पहुंचे और उस महिला मरीज को रक्त दिया।महिला मरीज के परिवार वालों ने प्रकाश मिश्रा की जमकर प्रसंसा की तो वही प्रकाश मिश्रा का कहना है कि यह मैंने अपने जीवन मे चौथी बार रक्तदान किया है।

महोबा के कुछ लोगो ने विंग्स नाम से एक संघटन बनाया है जो जरूरत मन्दो को ब्लड उपलब्ध करवाता है उसी संघटन के दीपक शुक्ला को यह जानकारी मिली कि महिला मरीज को ब्लड की आवश्यकता है तो उन्होंने तत्काल यह जानकारी व्हाट्सएप ग्रुप में डाल दी जिसको पढ़ कर प्रकाश मिश्रा ने आज रक्तदान किया है

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments