गोरखपुर का खाद कारखाना जब चलेगा तब यहां के नौजवानों को रोजगार और किसानों को समय पर खाद मिलेगा.

गोरखपुर का खाद कारखाना जब चलेगा तब यहां के नौजवानों को रोजगार और किसानों को समय पर खाद मिलेगा.

गोरखपुर । सीएम योगी जनपद के पिपराइच विधानसभा क्षेत्र के जैतपुर बाज में आयोजित विशाल जनसभा रैली को संबोधित करते हुऐ कहा कि एक वर्ष के अन्दर गोरखपुर का खाद कारखाना जब चलेगा तब यहां के नौजवानों को रोजगार और किसानों को समय पर खाद मिलेगा. गोरखपुर में एम्स बना और उसमें ओपीडी प्रारम्भ हो चूकी है. जुलाई से वहा एडमिशन भी प्रारम्भ हो जायेंगे. जिस विमारी का उपचार कराने दिल्ली और मुम्बई जाना पड़ता था अब वहां के लोगों को उपचार के लिए गोरखपुर आना पड़ेगा. एम्स खुलने से यहां के लोगों को उपचार भी मिलेगा नौकरी भी मिलेगी. नौजवानों को डाक्टर की पढाई करने के लिए प्रवेश भी मिलेगा.

वही उन्होंने पिपराइच की चीनी मिल को सपा ने बंद कर दिया था. मायावती ने उसको बेच कर हजारों लोगों को बेरोजगार कर दिया. हमने उस चीनी मिल को नये सिरे से निर्माण कराया और वहां सबसे अच्छी चीनी बनेगी सुगर फ्री. मोदी जी ने पुरे देश का नाम रोशन किया मैने उत्तर प्रदेश का नाम रोशन किया. मै यहां का सांसद रहते हुए आप की लड़ाई लड़ता रहता था. लेकिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में स्थिति बेहद खराब थी. वहां की बहु बेटियां स्कूल नही जा पातीं थी. कोई जबरजस्ती उठा कर ले जाता था. तो कोई एसिड फेंक कर चला जाता था. कोई कुछ और कर देता था. मेरे शाशन काल में किसी गरीब महला, किसी के बहन बेटी, के सुरक्षा के खिलाफ खिलवाड़ किया तो किसी व्यापारी को धमकी दिया तो किसी की जमीन को जबरजस्ती कब्जा किया, तो नोट करलेना या तो जेल हो गी या तो रामनाम सत्य की यात्रा करनी पड़ेगी. इस सरकार में पूरे प्रदेश में कोई दंगा फसाद नही है.

नही कोई पर्व त्योहार आता था तो सपा बसपा के लोग एक तो बिजली नही देते थे दूसरी ओर परमीशन नही देते थे. पर्व त्योहार के समय रोज दंगा फसाद करते थे. पर्व को खराब कर देते थे. दो वर्ष होगया हमारी सरकार को कोई दंगा नही. पर्व और त्योहार में व्योधान डालेगा. जो डालेगा उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी. आपकी आस्था का सम्मान केवल बीजेपी ही कर सकती है. प्रधानमंत्री मोदी का संकल्प है कि 2022 तक हरीब को मकान देंगे. और भू माफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्यवाही करने जारहे है. 24 हजार हेक्टेयर भूमि अवैध कब्जे से मुक्त करा करके कहीं मेडिकल कालेज बनवाया तो कही इंजीनियरिंग कालेज तो कही पालिटेक्निक, कही डिग्री कालेज इण्टर कालेज, कही आरटीआई तो कहीं गौशाला बनाया दिया. और बाकी बची हुई जमीनों को गरीबों में बंटवा दिया.

Comments