नहर में पानी न आने से पलेवा को किसान परेशान

नहर में पानी न आने से पलेवा को किसान परेशान

हमीरपुर सुमेरपुर

क्षेत्र के सायर पम्प कैनाल में पानी न छोड़े से कई गांवों के गरीब स्तर के किसान परेशान हैं उनका कहना है कि देर से पानी मिलेगा तो अच्छी फसल नहीं तैयार हो पाएगी। यदि पानी नहीं मिल पाता तो फसल के नाम कुछ भी संभव नहीं हो पाएगा।

 गौर तलब है कि सायर माइनर से ग्राम बिदोखर, मवईजार, बण्डा, सायर, अतरार रोहारी आदि गांवों के किसान पानी हासिल करके खेती करते हैं। जो किसान निजी नलकूप लगवाए हुए है ऐसे  किसान अपनी खेती समय पर बो लेते हैं किंतु जो गरीब किसान है

जिनके पास नलकूप नहीं है वह किसान  सभी नहर के सहारे  रहते हैं। यदि नहर में पानी आ जाता है तो उनका काम बन जाता है यदि पानी नहीं आता है। तो उन्हें मुसीबत झेलनी पड़ती है  किराए से पानी  लेना पड़ता है तो उनकी खेती महंगी पड़ जाती है।

क्षेत्रीय  किसानों ने बताया कि इस समय गेंहू बोने के लिए पलेवा का  वक्त चल रहा है। सभी संपन्न किसान अपने निजी नलकूप से खेतों में पलवा कर रहे हैं किंतु नहर में पानी न आने से गरीब स्तर के किसान हाथ पे हाँथ धरे  बैठे हैं। उनकी जमीन अभी परती पड़ी है 

समय पर पानी नहीं मिल पाता है तो उनकी खेती अच्छी नहीं तैयार नहीं हो पाएगी और फसल अच्छी न होने से उनका काफी नुकसान हो जाएगा। उन्होंने बताया कि शायर कैनाल में अभी भी  पानी नहीं छोड़ा गया है। पानी कब तक छोड़ा जाता है यह भी पता नहीं है।

छोड़ा जाएगा या नहीं छोड़ा जाएगा इसका भी कोई भरोसा नहीं है। किसानों ने बताया कि सायर पंप करनाल में पानी छोड़े जाने का कोई निश्चित समय नहीं है जब मन चाहा छोड़ दिया जाता है। न मन हुआ तो नहीं छोड़ा जाता है। वर्तमान समय में पलेवा का दौर चल रहा है

यदि अभी पलेवा हो जाएगा तो  15 दिन बाद फसल बोने का समय मिलेगा। यदि 15  दिन बाद पानी पलेवा होता है तो गेहूं की फसल बोने में काफी देर हो जाएगी और देर से बोई गई फसल से उत्पादन बिगड जाता है। किसानों का कहना था कि नहर चलाने की बार बार मांग की जा रही है

मगर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। किसान बच्चा गुप्ता, शंकर लाल यादव,  राजेश विश्वकर्मा,आदि किसानों ने जिला अधिकारी  हमीरपुर व  सदर विधायक से नहर पानी उपलव्ध कराने की मांग की है ताकि उन की खेती भी समय से बोई जा सके और उन्हें सही फसल का लाभ मिल सके।

 

Comments