मंडी में धान खरीद केंद्र का डीएम ने किया आकस्मिक निरीक्षण

मंडी में धान खरीद केंद्र का डीएम ने किया आकस्मिक निरीक्षण

हरदोई

जिलाधिकारी पुलकित खरे ने आज मण्डी समिति सदर पहुंच कर 11 सरकारी क्रय केन्द्रों पर की जा रही धान खरीद का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान दो क्रय केन्द्र प्रभारियों की अनुपस्थित पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए

उनके विरूद्व तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश डिप्टी आरएमओ को दिये। उन्होने केन्द्र प्रभारियों को निर्देश दिये कि सरकारी क्रय केन्द्र पर धान लाने वाले किसानों के धान में अगर निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप एक-दो प्वाइंट अधिक नमी मिले

तो उसे भी खरीदें और किसी भी किसान को धान बिक्रय करने में परेशानी न होने दी जाये तथा अपने-अपने क्रय केन्द्रों पर प्रतिदिन निर्धारित लक्ष्य के तहत ही धान खरीद करें। श्री खरे ने कहा कि धान क्रय करने में जिस केन्द्र प्रभारी द्वारा लापरवाही एवं कोताही बरते जायेगी तो उसके विरूद्व कठोर कार्यवाही की जायेगी।

धान खरीद की धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी ने डिप्टी आरएमओ को निर्देश दिये कि जिन धान क्रय केन्द्रों पर नये धान प्रभारियों को नियुक्त किया गया है उनकी सहायता के लिए अनुभवी धान खरीद करने वाले कर्मचारियों को नियुक्त किया जाये।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने केन्द्र प्रभारियों को यह भी निर्देश दिये किये कि लेखपाल के माध्यम से प्रतिदिन कम से कम 10 धान विक्रेता किसानों से फोन पर बात करें और उनसे अपना धान सरकारी क्रय केन्द्रों पर बिक्री करने के लिए प्रेरित करें और उन्हें बताये कि व्यारियों को धान बिक्री करने पर उन्हें 300 से 400 सौ रूपयें कम मिलते है जबकि सरकारी क्रय केन्द्र पर धान का मूल्य सरकार ने 1835/-निर्धारित किया है इस लिए अपने धान को सरकारी धान क्रय केन्द्र पर ही बेचें।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने डिप्टी आरएमओ को निर्देश दिये कि समस्त एजेंसी के अधिकारियों को निर्देश दें कि अपने धान क्रय केन्द्रों पर केन्द्र प्रभारियों के माध्यम से तय समय में लक्ष्य के अनुरूप खरीद कराना सुनिश्चित करने के साथ केन्द्रों कांटा-बांट, बोरे आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के साथ धान किसानों को धान खरीद का भुगतान भी समय से करायें।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने मण्डी सचिव बब्लू लाल को निर्देश दिये कि प्रतिदिन मण्डी गेट से आने वाली समस्त धान लेकर आने वाले ट्रक, ट्रालियों के नम्बर एवं ट्रक व ट्राली में किसान कितना धान लाया और कितना धान सरकारी केन्द्र पर बेचा गया

और कितना व्यापारियों को बिक्रय किया गया, इसकी सूचना उपलब्ध करायें। उन्होने डिप्टी आरएमओ को निर्देश दिये कि दो कर्मचारियों को धान नमी नापक यत्र के साथ मण्डी गेट पर बैठायें और आने वाले धान की नमी देखें और अगर धान निर्धारित नमी के अनुसार है तो मण्डी समिति कर्मचारियों के माध्यम से उक्त धान को सरकारी क्रय केन्द्र पर बिक्री करायें। 

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने लेखपालों की अनुपस्थिति पर भी नाराजगी व्यक्त करते हुए अपर जिलाधिकारी के दूरभाष पर कहा कि जिन लेखपालों की ड्युटी धान क्रय केन्द्रों पर लगायी गयी है उन्हें निर्देशित करें

कि वह प्रत्येक दिन अपने निर्धारित धान क्रय केन्द्र पर उपस्थित होकर अपने-अपने क्षेत्र के धान किसानों का धान सरकारी क्रय केन्द्रों पर बिक्री करायें और प्रत्येक दिन अपने हल्के के कम से कम बीस किसानों से फोन पर वार्ता करें और किसानों को सरकारी धान क्रय केन्द्रों पर धान विक्रय करने हेतु पे्ररित करें।

मण्डी समिति में कुछ लोगों द्वारा अतिक्रमण करने की जानकारी पर जिलाधिकारी ने मण्डी सचिव को निर्देश दिये कि जिन लोगों ने मण्डी समिति में अवैध रूप से दुकान आदि के माध्यम से कब्जा किया है उन्हें चिहिन्त कर सूची तत्काल उपलब्ध करायें। उन्होने कहा कि मण्डी समिति में अवैध कब्जा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।

 

Comments